April 15, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

SandeshKhali Case: संदेशखाली का जायजा लेने जाएंगे पीएम मोदी, राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग तेज

0
sandeshkhali

sandeshkhali

Sandeshkhali Case: संदेशखाली केस में बीते दिन ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया था कि अब सुप्रीम कोर्ट इस मामले में कोई सुनवाई नहीं करेगी। इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि संदेशखाली मामले की अर्जी हाईकोर्ट में देनी होगी। अब इस मामले ने एक नया रूख ले लिया है। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की शुरआती जांच शुरु हो गई है। इसके तहत FIR भी दर्ज हो सकती है। फिलहाल जांच एजेंसी आरोपी शाहजहां शेख की तलाश में जुटी है।

संदेशखाली का रूख करेंगे पीएम

खबरों से पता चला है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7 मार्च को बंगाल की यात्रा पर होंगे। इस दौरान वे संदेशखाली भी जा सकते हैं, जहां वह महिलाओं से मुलाकात करेंगे। इस मामले में महिलाओं समेत मानवाधिकार आयोग ने भी राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग की है।

यह भी पढ़ें: किसानों ने ठुकराया सरकार का प्रस्ताव, कल से फिर होगा आंदोलन, प्रस्ताव को बताया साजिश

धरने पर बैठ शुभेन्दु अधिकारी

वहीं भाजपा की तरफ से एक महिला टीम का गठन किया गया था लेकिन महिला सदस्यता टीम को संदेशखाली में घुसने तक नहीं दिया गया। इस बीच भारतीय जनता पार्टी के शुभेन्दु अधिकारी को भी पुलिस ने संदेशखाली जाने से रोक दिया है जिसके बाद से वह धरने पर बैठ गए हैं।

शुभेन्दु अधिकारी को मिला संदेशखाली जाने का ऑर्डर

शुभेन्दु अधिकारी ने पुलिस को हाईकोर्ट का हवाला भी दिया और कहा कि उन्हें जाने दें। जब पुलिस नहीं मानी तो शुभेन्दु ने दोबारा हाईकोर्ट जाने की बात कही। संदेशखाली जाने से पहले ही शुभेन्दु ने कहा था कि, ”उन्हें जाने से रोका जाएगा लेकिन हाईकोर्ट के ऑर्डर के बाद ही वे लोग वहां जा रहे हैं।”

टीएमसी कर रही है साजिश

वृंदा करात ने ममता बेनर्जी पर तंज कसते हुए कहा कि- ”टीएमसी गुंडागर्दी कर रही है। ममता सरकार ने मामले की कोई जांच नहीं कराई है और वे लोग घटना को लेकर साजिश रच रहे हैं।”

पुलिस शाहजहां शेख को बचाने में जुटी

इससे पहले राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा था कि, “पुलिस बिल्कुल भी भूमिका नहीं निभा रही है। अध्यक्ष रेखा शर्मा ने बताया कि जब वह गलियों में घूम रही थीं तब एसपी साहब कुर्सी पर बैठे थे।” उन्होंने कहा कि ”पुलिस समझने तक को तैयार नहीं है।”

जाने संदेशखाली का पूरा मामला

संदेशखाली में 9 फरवरी से अशांतिपूर्ण माहौल देखने को मिल रहा है। बता दें कि यह इलाका टीएमसी के नेता शाहजहां शेख के दबदबे वाला है। शाहजहां शेख राशन घोटाले में 5 जनवरी को ईडी की छापेमारी के दौरान टीम पर हुए हमले के बाद से फरार है। उसके फरार होने के बाद 8 फरवरी से स्थानीय महिलाओं ने शाहजहां शेख और उनके समर्थकों के खिलाफ प्रदर्शन शुरू किया। महिलाओं ने आरोप लगाया कि शाहजहां शेख और उसके लोग महिलाओं के साथ गलत काम करते थे और उनका यौन शोषण करते थे। वहीं 9 फरवरी को प्रदर्शनकारी महिलाओं ने शाहजहां समर्थक हाजरा के तीन पोल्ट्री फार्मों को जला दिया था। महिलाओं का दावा था कि वे स्थानीय ग्रामीणों से जबरन छीनी गई जमीन पर बने थे।

 

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट का फैसला संदेशखाली मामले पर नहीं होगी सुनवाई, खटखटाये हाईकोर्ट का दरवाजा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *