April 17, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

डीजीसीए की कार्रवाई के बाद मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया ‘सेफ्टी’ ट्वीट

0

Spicejet

स्पाइसजेट (SpiceJet) की उड़ानों में तकनीकी खराबी की हालिया घटनाओं में लगातार वृद्धि हो रही हैं । प्राइवेट कैरियर ने पिछले तीन हफ्तों में खराबी की लगभग आठ घटनाओं की सूचना दी है। बहरहाल नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने स्पाइसजेट को “सुरक्षित, कुशल और विश्वसनीय” हवाई सेवाओं की पेशकश करने में विफलता के लिए, कारण बताओ नोटिस जारी किया है। नियामक ने एयरलाइन को यह भी चेतावनी दी गई है कि अब देश में वाणिज्यिक उड़ानें संचालित करने का उसका परमिट केवल एक और वर्ष के लिए ही वैध है।

यात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि: ज्योतिरादित्य सिंधिया

स्पाइसजेट (SpiceJet) के खिलाफ डीजीसीए की कार्रवाई के बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री, ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने ट्वीट कर कहा,

“यात्री सुरक्षा सर्वोपरि है। यहां तक कि सुरक्षा में बाधक छोटी से छोटी त्रुटि की भी गहन जांच की जाएगी और उसे सुधारा जाएगा।”

डीजीसीए स्पाइसजेट के सीएमडी को दिया कारण बताओं नोटिस

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने बुधवार को स्पाइसजेट (SpiceJet) को कारण बताओ नोटिस जारी किया था, जिसमें कहा गया है, “घटनाओं से पता चलता है कि खराब आंतरिक सुरक्षा निरीक्षण और अपर्याप्त मेंटेनेंस के काम के परिणामस्वरूप सेफ्टी मार्जिन में गिरावट आई है।” हालांकि पिछले तीन हफ्तों में, खराबी की वजह से हुई घटनाओं में चालक दल या यात्रियों को कहीं भी गंभीर नुकसान नहीं पहुंचा है लेकिन यात्रियों को परेशानी जरुर हुई है।

तीन घटनाओं के बाद दिया गया नोटिस

Spicejet

डीजीसीए ने यह नोटिस एयरलाइन द्वारा कम से कम तीन घटनाओं का सामना करने के एक दिन बाद दिया है, जिसमें कराची के लिए दिल्ली से दुबई उड़ान का डायवर्जन (एक ईंधन संकेतक की खराबी के कारण), कांडला-मुंबई उड़ान पर एक टूटी हुई विंडशील्ड तथा मौसम रडार में रोड़ा, कोलकाता से चोंगकिंग के लिए उड़ान भरने वाले अपने कार्गो विमान पर एक टर्नबैक के लिए मजबूर आदि घटनाएं शामिल है।

ये भी पढ़े- दो राज्यों की पुलिस के बीच खूनी झड़प से लेकर सहयोग के मामले नहीं है नए, आमतौर पर देखे जाते हैं ऐसे मामले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *