April 17, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

Lok Sabha Election 2024: अखिलेश यादव की जगह कन्नौज से इस उम्मीदवार को सपा देगी मौका

0
Akhilesh and Tejpratav Yadav

Akhilesh and Tejpratav Yadav

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी (सपा) को लेकर एक चौंका देने वाली खबर सामने आई है। खबरों के मुताबिक समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव लोकसभा चुनाव 2024 नहीं लड़ेंगे। इससे पहले कहा जा रहा था कि वह कन्नौज सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। इस सीट से कौन चुनाव लड़ेगा? उसको लेकर बातचीत जारी है। इन सब के बीच एक नाम भी सामने आया है। 

चचेरे भाई को देंगे टिकट

खबरों की माने तो सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आज यानी 2 अप्रैल को कन्नौज से बूथ प्रभारियों के साथ बैठक भी कर सकते हैं। इस बैठक में कन्नौज से प्रत्याशी को लेकर चर्चा की जा सकती है। खबरों के अनुसार कन्नौज सीट से चचेरे भाई तेज प्रताप को अखिलेश द्वारा टिकट देने की संभावना है। 

Smajwadi Party

Also Read: Vijay Nair: कौन है विजय नायर, जिसे केजरीवाल ने पहचानने से किया इनकार, आतिशी और सौरभ से क्या है कनेक्शन?

कन्नौज से डिंपल का पत्ता साफ

पिछले बार कन्नौज सीट से अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव ने चुनाव लड़ा था, लेकिन वो बीजेपी के सुब्रत पाठक से हार गईं थीं। उसके बाद वह मुलायम सिंह के निधन के बाद मैनपुरी सीट से चुनावी मैदान में उतरी और उपचुनाव में जीत हासिल की और सांसद बनी। यही वजह है कि सपा डिंपल को कन्नौज सीट से बतौर उम्मीदवार नहीं उतारती है। 

Dimple Yadav

इलेक्शन लड़ने का मन नहीं है 

इससे पहले खबरें थी कि अखिलेश यादव तेज प्रताप यादव को रामपुर लोकसभा सीट से उतार सकते हैं। वहीं आजम खान इसके लिए राजी नहीं थे।  इधर कन्नौज में सपा कार्यकर्ता चाहते हैं कि अखिलेश यादव यहां से चुनाव लड़ें, लेकिन शायद अखिलेश चुनाव लड़ाना ही नहीं चाहते। 

तेज प्रताप, लालू यादव के खास हैं

तेज प्रताप यादव सपा संस्थापक मुलायम सिंह के बड़े भाई राजवीर सिंह यादव के बेटे हैं और साल 2014 में मैनपुरी सीट से सांसद भी रह चुके हैं। इसके बाद से उन्हें कभी चुनाव लड़ने का मौका तक नहीं मिला। तेज प्रताप लालू यादव दामाद के हैं। लालू यादव की बेटी राजलक्ष्मी यादव उनकी धर्मपत्नी हैं।

Tejpratap And Lalu

Also Read: Maharashtra News: महाराष्ट्र में सीट शेयरिंग को लेकर तनावपूर्ण हालात, बीजेपी और शिवसेना के फैसले का इंतजार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *