February 25, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

#BoycottMaldives के समर्थन में दिग्गज, लक्षद्वीप फ्लाइट पर ऑफर तो कैंसिल हो रहीं मालदीव की बुकिंग

0
boycott maldives

boycott maldives

Boycott Maldives: हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) लक्षद्वीप दौरे पर गए थे। जंहा से उनकी कुछ तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं। उन्होंने अपनी तस्वीर शेयर करते हुए लोगों से अपील की थी कि वो मालदीव से पहले लक्ष्यद्वीप जाएं। इस अपील के बाद मालदीव के कुछ मंत्रियों ने कुछ बयान दिए। जिसके बाद उन्हें उनके पद से हाथ धोना पड़ा। हालांकि इसके बाद भी ये मामला शांत होने की जगह गरमाता जा रहा है। भले ही वहां की सरकार ने कमेंट करने वाले तीनों मंत्रियों को निलंबित कर दिया हो, लेकिन भारतीयों का गुस्सा कम होने का नाम नहीं ले रहा है।

सोशल मीडिया पर लगातार मालदीव को बॉयकॉट करने की मांग की जा रही है। वहीं लोगों से अपील की जा रही है कि वे मालदीव की जगह लक्ष्यद्वीप जाएं। इसी बीच EaseMyTrip के को-फाउंडर, प्रशांत पिट्टी ने कहा है कि ”हमारी कंपनी भारत में बनी और PM Modi की लक्षद्वीप यात्रा पर मालदीव सांसद की पोस्ट पर विवाद के बीच, हमने फैसला किया है कि हम मालदीव की कोई भी बुकिंग नहीं लेंगे, हम चाहते हैं कि अयोध्या और लक्षद्वीप अंतरराष्ट्रीय गंतव्य बनें।” इतना ही नहीं इस मामले पर नेताओं से लेकर अभिनेताओं और खिलाड़ियों तक की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं।

Maldives Tourism पर होगा असर

भारत में Bycott Maldives ट्रेंड कर रहा है और इसके चलते लगातार मालदीव की फ्लाइट कैंसिल हो रही हैं, जबकि देशी कंपनियां अब लक्षद्वीप घूमने के लिए बंपर डिस्काउंट ऑफर कर रहे हैं। इन सबसे ज्यादा असर मालदीव के टूरिजम (Maldives Tourism) पर पड़ेगा। जिसका देश की जीडीपी में बहुत बड़ा हिस्सा है।

मालदीव यात्रा की बुकिंग कैंसिल 

Also Read: SC ने गुजरात सरकार के फैसले को दी चुनौती, बिलकिस बानो के सभी 11 दोषियों को दोबारा जाना होगा जेल

खबरों के मुताबिक पर्यटन के लिहाज से सबसे पसंदीदा गंतव्यों में से एक मालदीव को भारतीय पर्यटकों द्वारा ट्रिप कैंसिल का सामना करना पड़ रहा है। द्विपीय राष्ट्र की ओर से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की लक्षद्वीप यात्रा पर कई गई टिप्पणियों के विरोध में देश में BycottMaldives ट्रेडिंग है। इसका असर सोशल मीडिया पर साफ दिखाई दे रहा है और भारतीय टूर एंड ट्रैवल ऑपरेटर्स का दावा है कि मालदीव की यात्रा के लिए लोगों द्वारा कोई नई इंक्वायरी नहीं की जा रही है, बल्कि इसके उलट बड़ी संख्या में लोग अपनी मालदीव यात्रा की बुकिंग कैंसिल करा रहे हैं और साथ ही लक्षद्वीप की बुकिंग बुक करवा रहें हैं।

EaseMy Trip ने कैंसिल की बुकिंग

पर्यटन पर खासतौर से निर्भर मालदीव की अर्थव्यवस्था पर इस Bycott का कितना बुरा असर पड़ रहा है इसका अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि ऑनलाइन ट्रैवल एंड टूरिज्म कंपनी ईज माई ट्रिप (EaseMy Trip) मालदीव के लिए अपनी सभी बुकिंग को एक झटके में कैंसिल कर दिया है। EaseMy Trip के जरिए लोग सबसे ज्यादा बुकिंग करते हैं लेकिन अब तो इस ट्रैवल एंड टूरिज्म कंपनी ने मालदीव में सर्विस देने से मना ही कर दिए है। ऐसे में मालदीव को एक बहुत बड़ा सबक मिला है।

EaseMyTrip के सह-संस्थापक, प्रशांत पिट्टी का कहना है कि हमारी कंपनी पूरी तरह से घरेलू और भारत में बनी हुई है। PM Modi की लक्षद्वीप यात्रा पर मालदीव के सांसद की पोस्ट पर विवाद के बीच, हमने फैसला किया है कि हम मालदीव के लिए कोई भी बुकिंग स्वीकार नहीं करेंगे। हम चाहते हैं कि अयोध्या और लक्षद्वीप अंतरराष्ट्रीय गंतव्य बनें।

लक्षद्वीप की फ्लाइट पर 2000 रुपये की छूट!

एक दूसरी खबरों की मानें तो जब ये मामला तूल पकड़ने लगा, तबसे अब तक भारतीयों द्वारा मालदीव की करीब 8,000 होटल बुकिंग और 2,500 फ्लाइट टिकट कैंसिल हो चुके हैं। एक ओर जहां धड़ाधड़ मालदीव के लिए की जाने वाली बुकिंग कैंसिल हो रही हैं, तो वहीं दूसरी ओर घरेलू टूर एंड ट्रैवल एजेंसियां अपने ग्राहकों को लक्षद्वीप यात्रा के लिए बंपर डिस्काउंट ऑफर करने लगी हैं।

मेक माय ट्रिप (Make My Trip) लक्षद्वीप की फ्लाइट पर 2000 रुपये का डिस्काउंट दे रहा है। इसको देखते हुए लोग लक्षद्वीप जाने का प्लान बना रहे हैं। मेक माय ट्रिप की ओर से की गई एक इंस्टाग्राम पोस्ट के मुताबिक, लक्षद्वीप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विजिट के बाद से उसके प्लेटफॉर्म पर इस लोकेशन और यहां के टूरिस्ट स्पॉट्स की सर्च में 3400 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है।

My Trip

सोशल मीडिया पर दिखा लोगों का गुस्सा

सोशल मीडिया (Social Media) पर लोग आक्रोश जाहिर करते दिख रहें हैं। मालदीव (Maldives) की पहले से बुकिंग कराने वाले कई भारतीयों ने अपनी यात्रा को कैंसिल करने की घोषणा करते हुए अपनी बुकिंग डिटेल्स तक शेयर की हैं। एक्स प्लेटफॉर्म पर एक यूजर ”रुशिक रावल ने फरवरी 2024 से पाम्स रिट्रीट, फुलहाधू, मालदीव में 5 लाख रुपये की 3 सप्ताह की बुकिंग की थी, अब उन्होंने अपनी पोस्ट में लिखा कि मालदीव के मंत्री द्वारा नस्लवादी टिप्पणी पोस्ट करने के तुरंत बाद उन्होंने अपनी बुकिंग कैंसिल कर दी है।”

एक अन्य यूजर डॉ फलक जोशीपुरा ने लिखा कि ‘‘फरवरी में अपने जन्मदिन के लिए मालदीव जाने की योजना थी, लेकिन अब इसे मैंने रद्द कर दिया है।” अक्षित सिंह नामक यूजर ने बताया कि ”उन्होंने 31 मार्च से 2 अप्रैल के बीच यात्रा के लिए मालदीव की बुकिंग की थी, लेकिन अब वे नहीं जाएंगे।”

बायकॉट कैंपेन में बॉलीवुड-स्पोर्ट्स भी शामिल

#BycottMaldives में ना केवल आम लोग बल्कि बॉलीवुड और खेल जगत भी शामिल हैं। Team India के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग (Verender Sehwag) से लेकर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) तक ने मालदीव सरकार के मंत्रियों की टिप्पणी पर तीखी प्रतिक्रिया दी है।

सहवाग ने अपनी एक्स पोस्ट में लिखा है, ”चाहे वह उडुपी के खूबसूरत समुद्र तट हों, पोंडी में पैराडाइज बीच, अंडमान में नील और हैवलॉक, और हमारे देश भर में कई अन्य खूबसूरत समुद्र तट हों, भारत में बहुत सारे अनएक्सप्लोरड जगह हैं जिनमें कुछ बुनियादी ढांचे के समर्थन के साथ बहुत अधिक संभावनाएं हैं। मालदीव के मंत्रियों द्वारा हमारे देश और हमारे प्रधान मंत्री पर यह टिप्पणी भारत के लिए एक महान अवसर है।”

वीरेंद्र सहवाग की इस पोस्ट पर बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने लिखा, ”वीरू पाजी, यह बहुत रिलेवेंट है। हमारा देश अपने आप में बेस्ट है। मैं लक्षद्वीप और अंडमान गया हूं और वे आश्चर्यजनक रूप से खूबसूरत लोकेशंस हैं।” अमिताभ बच्चन के अलावा अभिनेता सलमान खान, जॉन अब्राहम, अक्षय कुमार, कंगना रनौत, श्रद्धा कपूर से लेकर महानायक अमिताभ बच्चन तक ने ट्वीट कर लोगों से भारतीय टूरिज्म को बढ़ावा देने की अपील की है।

Amitabh

इसके बाद इस अभियान में अभिनेता सलमान खान भी शामिल हो गए। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि ”लक्षद्वीप के सुंदर, स्वच्छ और हैरान करने वाले समुद्र तटों पर हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देखना बहुत अच्छा है और सबसे अच्छी बात यह है कि ये हमारे भारत में हैं।”

वहीं, अभिनेता अक्षय कुमार ने एक्स पर लिखा कि  ”मालदीव के प्रमुख नेताओं ने भारतीयों पर घृणित और नस्लवादी टिप्पणियां कीं। यह हैरान करने वाला है। मालदीव एक ऐसा जहां सबसे भारतीय लोग जाते हैं। हम अपने पड़ोसियों के प्रति अच्छे हैं, लेकिन हमें ऐसी बेवजह नफरत क्यों बर्दाश्त करनी चाहिए? मैंने कई बार मालदीव का दौरा किया है और हमेशा इसकी प्रशंसा की है, लेकिन मेरे लिए अपनी गरिमा पहले है। आइए हम भारतीय द्वीपों का एक्स्प्लोर करें और अपने खुद टूरिज्म को सपोर्ट करें।”

कंगना रनौत ने ट्वीट किया, ”एक ही समुदाय से होने के बावजूद बड़े पैमाने पर मुस्लिम भय से पीड़ित। लक्षद्वीप में 98 प्रतिशत मुस्लिम आबादी है। मालदीव का यह प्रमुख सार्वजनिक व्यक्ति उन्हें बदबूदार और नीच कहना नस्लवादी और अज्ञानी है। मिस्टर जाहिद, लक्षद्वीप की पूरी आबादी मुश्किल से 60 हजार लोगों की है, जिसका अर्थ है कि यह लगभग अछूता, अज्ञात और अप्रयुक्त प्राकृतिक द्वीप है। अधिकांश लोगों के लिए पर्यटन केवल गंदी विलासिता नहीं है, बल्कि यह प्रकृति की खोज है। इतने घटिया और अभद्र नस्लवादी होने के लिए आपको शर्म आनी चाहिए।”

 

Also Read: पीएम पर आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद भारत ने अपनाया सख्त रवैया, विदेश मंत्रालय पहुंचे मालदीव के हाई कमिश्नर

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *