April 19, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

समलैंगिक विवाह को कानूनी वैधता देने की बहस में कूदी अभिनेत्री कंगना रनौत, लोगों को दे डाली ये बड़ी नसीहत

0
Kangana Ranaut

समलैंगिक विवाह (Same Sex Marriage) को कानूनी वैधता देने पर इन दिनों बहस छिड़ी हुई है। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से लेकर सोशल मीडिया तक इसको लेकर प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रहे हैं। इस बीच इस मुद्दे पर अब बाॅलीवुड की सबसे चर्चित अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की प्रतिक्रिया भी सामने आई है।

शुक्रवार को कंगना ने (Kangana Ranaut) इस मुद्दे पर सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए कहा कि आपके जेंडर से आपके अलावा किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता। आप जो काम करते हैं, उससे आपकी पहचान होती है। इसलिए अपनी सेक्शुअल प्रेफरेंस बिस्तर तक ही सीमित रखें। हर जगह उसका प्रदर्शन करना ठीक नहीं।

अपनी सेक्शुअल पसंद को बिस्तर तक ही रखें

कंगना (Kangana Ranaut) ने लिखा, “चाहे आप एक पुरुष, महिला या कुछ और हों, आपके जेंडर का आपके अलावा किसी और के लिए कोई महत्व नहीं है, कृपया समझें। आज के समय में हम अभिने​त्रियों या महिला निर्देशकों जैसे शब्दों का भी उपयोग नहीं करते हैं, हम उन्हें एक्टर्स और डायरेक्टर्स कहते हैं। आप दुनिया में क्या करते हैं यह आपकी पहचान है, न कि आप बिस्तर में क्या करते हैं।

अपनी सेक्शुअल पसंद को बिस्तर तक ही रखें। उसे अपना आईडी कार्ड या मेडल बनाकर हर जगह मत दिखाओ। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हर उस व्यक्ति का गला काटने के लिए छुरी लेकर न घूमें जो आपके जेंडर से सहमत नहीं है। मैं फिर कह रही हूँ कि आपका जेंडर आपकी पहचान नहीं है, इसे इस तरह से न बनाएँ।”

मैं ग्रामीण क्षेत्र की महिला हूँ – कंगना रनौत

उन्होंने आगे कहा “मैं ग्रामीण क्षेत्र की महिला हूँ। जीवन ने मुझे कोई रियायत नहीं दी। मुझे अभिनेताओं, फिल्म निर्देशकों, निर्माताओं और लेखकों की दुनिया में अपनी जगह बनानी थी। कभी भी लोगों को जेंडर या किसी अन्य शारीरिक विशेषताओं के लेंस से न देखें।

आप जानते हैं कि कंगना (Kangana Ranaut) को सिर्फ एक महिला समझने वालों का क्या हुआ। आज वे बड़े आश्चर्य में हैं। मैं कभी भी खुद को या किसी और को इस तरह से नहीं देखती हूँ। मैं हमेशा लोगों के बीच रहती हूँ। व्यक्तिगत ऊर्जा केवल लोग ही होते हैं न कि पुरुष/महिला/होमो/हेट्रो/शारीरिक रूप से मजबूत या कमजोर।”

लोगों को जज करने पर न करें समय बर्बाद

उन्होंने (Kangana Ranaut) आगे कहा कि अगर मैंने भी अपने और अपने आसपास के सभी लोगों को ऐसे ही जज किया होता तो “मैं अपनी जिंदगी में इतनी आगे नहीं आ पाती, उन्होंने लोगों को नसीहत देते हुए कहा कि आप सभी अपने आसपास के लोगों को जज करने पर इतना समय क्यों बर्बाद करते हैं, कृपया समझें कि यदि आपके पास दुनिया के बारे में ऐसा सीमित दृष्टिकोण और धारणा है, तो आप ज्यादा दूर नहीं जा पाएँगे।

जो कभी दूसरों के साथ न्याय नहीं कर पाते, वे कभी खुद के साथ भी न्याय नहीं कर सकते हैं। इसलिए अपने आप को जेंडर या किसी अन्य सीमित धारणा से मुक्त करें। उठो और चमको जैसे आप कौन हैं और धर्म कहता है कि आप भौतिक चीजों से परे परम ईश्वर हैं… शुभकामनाएँ।”

आपको बता दें कि समलैंगिक शादी (Same Sex Marriage) को मान्यता देने को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में इन दिनों सुनवाई चल रही है. जिसको लेकर अगले कुछ दिनों में निर्णय आने वाला है।

 

यह भी पढ़ें : Atiq Ashraf Murder: अतीक और अशरफ की हत्या को लेकर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई, जज ने यूपी सरकार से पूछे ये तीखे सवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *