April 19, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

विपक्षी पार्टियां सभी 100 सीटों पर उम्मीदवार उतार ले, यही उनके लिए सबसे बड़ी सफलता होगी- BJP गाजियाबाद महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा

0
Ghaziabad Nagar Nigam Elections 2022: BJP अध्यक्ष संजीव शर्मा के साथ ख़ास बातचीत

Ghaziabad Nagar Nigam Elections 2022: BJP अध्यक्ष संजीव शर्मा के साथ ख़ास बातचीत

Ghaziabad Nagar Nigam Elections 2022: गाजियाबाद में आगे आने वाले कुछ ही दिनों में निकाय चुनाव होने वाले हैं. उससे पहले हमारे संवाददाता मोहित सिंह ने भारतीय जनता पार्टी के गाजियाबाद महानगर अध्यक्ष श्री संजीव शर्मा के साथ ख़ास बातचीत की. इस दौरान संजीव जी से जनता की समस्यायों से जुड़ी कई तरह के सवाल पूछे गए. जिसका उन्होंने काफी सरल अंदाज में जवाब दिया. साथ ही उन्होंने चुनाव (Ghaziabad Nagar Nigam Elections 2022) को लेकर अपनी तैयारियों का भी खुलासा किया.

संजीव शर्मा जी से पूछे गए सवाल

प्रश्न : सर, पिछले गाजियाबाद नगर निगम चुनाव (Ghaziabad Nagar Nigam Elections 2022) में आपकी पार्टी का नारा था ” अबकी बार 80 पार” और इस बार के चुनाव में क्या रणनीति रहेगी.

उतर- देखिये, हमारे यहाँ कुल 100 सीटें हैं. जिसमे कुछ सीटें पार्टी के अनुकूल होती है. वही कुछ प्रतिकूल होती है. यह वास्तविकता है. हालाँकि, इसबार हमारी तैयारी काफी अच्छी है और हम इस “अबकी पार 80 पार” के नारे को सफल बनाने की पूरी कोशिश करेंगे. जो कि पिछली बार संभव नहीं हो पाया था.

प्रश्न: सर, इसबार के गाजियाबाद नगर निगम चुनाव (Ghaziabad Nagar Nigam Elections 2022) में उम्मीदवारों का चयन किस आधार पर किया जाएगा?

उत्तर- उम्मीदवार के चयन के लिए कई तरह के पैमाने तय किये गए हैं. उम्मीदवार पार्टी के कार्यकर्ता में से ही होंगे. अभी तो हम फिलहाल आरक्षित सीटों के एलान होने का इंतज़ार कर रहे हैं. उसके बाद उम्मीदवारों से आवेदन मंगवाए जायेंगे. उसके बाद महानगर में एक कोर कमिटी बैठेगी. जो इसको लेकर उचित फैसला करेगी.

प्रश्न: सर, पिछले 5 वर्षों में गाजियाबाद नगर निगम द्वारा किये गए प्रमुख कार्य क्या-क्या रहे हैं ?

उत्तर- नगर निगम ने इन वर्षों में अपना काम काफी अच्छे से किया है और यह क्षेत्र में दिख भी रहा है. सड़कों की स्थिति काफी अच्छी हो गयी है. आवागमन भी कई मायनो में बेहतर हुआ है. गाजियाबाद पहले एक छोटे कस्बे के रूप में सिमटा हुआ था. लेकिन, अब यह एक महानगर बनने के राह पर है.

प्रश्न: सर, प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा चलाया जा रहा “स्वच्छ भारत अभियान” मिशन को नगर निगम किस रूप से देखता है और इसको बेहतर बनाने में किस तरह का प्रयास रहा है?

उत्तर- प्रधानमंत्री मोदी जी के मान-सम्मान को बढाने का गाजियाबाद के सभी लोगों ने ध्यान रखा है. मोदी जी के द्वारा अपील किये जाने के बाद से बच्चे-बूढ़े सभी ने स्वक्षता अभियान को काफी सिरियस लिया है. जिसके कारण सीजन में चलने वाली बिमारियों में भी कमी आई है. यह बात डॉक्टर्स के सर्वे में भी प्रूव हो चूका है. स्वच्क्ष्ता के मामले में गाजियाबाद का नाम सबसे ऊपर आया हैं.

प्रश्न: सर, हिंडन पार के क्षेत्र में शुद्ध जल आपूर्ति हमेशा एक मुख्य मुद्दा रहा है. इस पर आपकी क्या राय है?

उत्तर- यह सही बात है कि, वहां के ग्राउंड वाटर का टीडीएस काफी ज्यादा है और पानी पीने लायक नहीं है. इस चीज को लेकर कई तरह के अभियान चलाये जा चुके हैं. गंगाजल लाने में काफी काफी खर्च है और इसके लिए कई सौ करोड़ रूपये का प्रोजेक्ट बन कर जा चूका है. माननीय मुख्यमंत्री जीत को भी इससे अवगत करवा दिया गया है. अब वहाँ पर 6 रेनीवेल बन कर तैयार हो चूका है. इससे काफी हद तक समस्यायों में सुधार होगा.

प्रश्न: सर, सड़कों की लाईट व्यवस्था पूर्ण रूप से दुरस्त नहीं है इस पर आपकी क्या योजना है?

उत्तर- साफ़-सफाई और स्ट्रीट लाईट सबसे प्राथमिक चीज है. इन चीजों को सबसे ऊपर रखना चाहिए. नगर-निगम में हमारे जो भी प्रत्याशी चुन कर आयेंगे. हम उनसे इन चीजों को उनके एजेंडा में शामिल करने के लिए कहेंगे.

प्रश्न: सर, आने वाले गाजियाबाद नगर निगम चुनाव में मुख्य चुनौतियाँ क्या रहेगी?

उत्तर- गाजियाबाद नगर निगम चुनाव में भाजपा की एकतरफा जीत निश्चित है. बीजेपी के अलावा किसी भी पार्टी की कोई तैयारी नहीं है. उनके पास ना ही नेता बचे है और ना ही चुनाव लड़ने के लिए प्रत्याशी. विपक्षी पार्टियां अगर सभी 100 सीटों पर उम्मीदवार खड़ा कर ले, यही उनके लिए सबसे बड़ी सफलता होगी.

प्रश्न: सर, नगर की साफ़ सफाई/ कूड़े को लेकर पिछले 5 सालों में क्या रणनीति रही है. अभी प्रदेश में जिस तरह से डेंगू अपने पैर पसार रहा है. उसको लेकर क्या योजना रही है?

उत्तर- देखिये, नगर निगम के कर्मचारी अपना काम काफी अच्छे से कर रहे हैं. तभी उत्तरप्रदेश में हुई स्वच्क्ष्ता सर्वें में गाजियाबाद पहले स्थान पर आया है. इसमें नगर निगम के अलावा यहाँ के नागरिकों, व्यापार मंडलों, पार्षदों, सभी का एक महत्वपूर्ण योगदान रहा है.

बात अगर डेंगू की करें तो, इसको लेकर नगर-निगम के अलावा प्रदेश की सरकार भी पूरी तरह से जागरूक है. प्रदेश के हेल्थ मिनिस्टर श्री ब्रिजेश पाठक ने गाजियाबाद आकर इसकी समीक्षा की है और इसके रोकथाम को लेकर योजना भी बनायी है.

प्रश्न: सर, जनता को शुद्ध पेय जल पहुँचाने को लेकर क्या योजना रही है और इसे जनता के बीच किस तरह से पहुंचाया जा रहा है?

उत्तर- लोगों तक गंगाजल पहुंचाने को लेकर प्रोजेक्ट बनाकर भेजा जा चूका है. वही, उससे पहले रेनिवल वाटर का प्लांट लगाया जा रहा है. अगले एक से दो महीने के अंदर इसको शुरू कर दिया जाएगा.

प्रश्न: सर, गाजियाबाद की कॉलोनियों में कूड़े के ढेर और जल-जमाव की समस्या जस की तस बनी हुई है. इसको लेकर नगर-निगम की क्या योजना है?

उत्तर- पीडब्ल्यूडी की तरह इसमें भी नगर विकास मंत्री जीत के द्वारा ठेकेदार के साथ मेंटिनेंस की एक समय अवधि तय की जानी चाहिए और उनके पैसे उस तय समय तक रोक कर रखना चाहिए. अवधि पूरा होने के बाद ही पूरे पैसे रिलीज की जानी चाहिए.

प्रश्न: सर, वायु प्रदुषण आज के समय की सबसे गंभीर समस्या बनी हुई है. इसको लेकर किस तरह के कदम उठाये जा रहे हैं?

उत्तर- वायु प्रदुषण केवल गाजियाबाद नहीं बल्कि पूरे दिल्ली एनसीआर की समस्या है. इसके रोकथाम को लेकर अभी तक तो कोई नियम नहीं बनाए गए हैं लेकिन, सरकार से मेरी यही अपील है कि, इसको रोकथाम के कुछ न कुछ उपाय जरुर किये जाए.

 

और पढ़े: प्रधानमंत्री Narendra Modi आज से तीन दिवसीय इंडोनेशिया दौरे पर, बाली में आयोजित 17वें G-20 शिखर सम्मलेन में लेंगे हिस्सा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *