March 2, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

सामने आया यूपी सरकार का बजट 2024-25, धार्मिक कार्यों को पर रहीं खास नजर

0
up-budget-2024-live

up-budget-2024-live

UP Budget 2024: उत्तर प्रदेश विधानसभा में सोमवार को वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने वित्तिय बजट 2024-25 पेश कर दिया है। इस बजट में उत्तर प्रदेश के धार्मिक शहरों खासकर अयोध्या, वाराणसी और प्रयागराज से जुड़े मार्गो के लिए कई प्रोजेक्ट के तहत बजट का प्रावधान पेश किया गया है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने बजट में शिक्षा को भी महत्वपूर्ण स्थान दिया है। सरकार ने बजट में बीते साल शिक्षा के क्षेत्र में प्राप्त की अपनी उपलब्धियों का जिक्र कर आगे की योजना पेश की है। वित्त मंत्री के अनुसार बजट 2024-25 कुल 7 लाख 36 हजार 437 करोड़ 71 लाख रुपए का है। इसमें 24 हजार करोड़ रुपए की नई योजनाएं लाई गई हैं और राजकोषीय घाटा 3.46 फीसद है।

अयोध्या को विकास का तोहफा

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि ”वित्तिय बजट 2024-25 में अयोध्या और वाराणसी को मॉडल सोलर सिटी के रूप में विकसित करने की योजना है।” उनका कहना था कि ”अयोध्या के सर्वांगीण विकास के लिए कुल करीब 100 करोड़ बजट का प्रावधान किया गया है।” इसके अलावा अयोध्या एयरपोर्ट विकास और विस्तार के लिए अलग से बजट में 150 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

Also Read: शनिवार को बंद हुआ लद्दाख, लेह में संगठनों का प्रदर्शन, केंद्र सरकार ने किया दूसरी वार्ता का ऐलान

महाकुंभ को 2500 करोड़ का प्रावधान

आपको बता दे कि बजट 2024-25 में प्रयागराज में होने वाले महाकुंभ 2025 के लिए 2500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। जानकारी के अनुसार 13 जनवरी 2025 को पौष पूर्णिमा के स्नान के साथ महाकुंभ का आरंभ होगा। इसके बाद 45 दिन बाद महाशिवरात्रि को 26 फरवरी 2025 को इसका समापन होगा।

भगवान राम को समर्पित बजट

इतना ही नहीं, वित्तमंत्री ने बताया कि ”प्रदेश भर के धर्मार्थ मार्गों के विकास के लिए बजट में 1750 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा कान्हा गौशाला और बेसहारा पशु योजना के लिए 400 करोड़ अलग से रखे गए हैं।” बता दें कि बजट पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ”आज का बजट भगवान राम को समर्पित है। उनका कहना था कि प्रदेश में टैक्स चोरी को रोका गया है।”

अटल आवासीय विद्याल बनाए जाएंगे

वित्त मंत्री के अनुसार संत रविदास शिक्षा प्रोत्साहन योजना के तहत नंवबर 2023 तक 186270 छात्र-छात्राओं को लाभ हुआ है। इन पर 58 करोड़ 46 लाख रुपये की धनराशि खर्च की गई। उनका कहना था कि आगे भी यह योजना जारी रहेगी। बजट में बताया गया कि मजदूरों के बच्चों के हर मंडल में एक-एक अटल आवासीय विद्यालय बनाया जा रहा है, जिसके निर्माण पर 1267 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके अलावा सरकार 16 अटल आवासीय विद्यालयों को पहले ही शुरू कर चुकी है।

 

Also Read: क्राइम ब्रांच ने केजरीवाल से मांगा जवाब, देना होगा सबूत, तीन दिन के अंदर बताएं 7 MLA का नाम 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *