April 13, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

एनसीपी नेता डॉ. जितेंद्र आव्हाड के बिगड़े बोल, भगवान राम को बताया मांसाहारी, बाद में मांगी माफी

0
jitendra-aw

jitendra-aw

Jitendra Awhad: यूपी के अयोध्या में श्रीराम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के दिन कई राज्यों में शराब और मांस की ब्रिकी पर प्रतिबंध लगाने की मांग की जा रही है। इसी क्रम में भाजपा नेता राम कदम ने भी महाराष्ट्र सरकार से एक दिन के लिए रोक लगाने की अपील की है। इस पर एनसीपी शरद पवार गुट के नेता डॉ. जितेंद्र आव्हाड ने कहा कि भगवान राम मांसाहारी थे। इसे लेकर भाजपा ने पटलवार करते हुए कहा कि अगर आज बालासाहेब ठाकरे होते तो उन पर टूट पड़ते।

आपको बता दें कि एनसीपी नेता के श्रीराम पर दिए विवादित बयान को लेकर भाजपा नेता राम कदम ने कहा कि ”अगर आज स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे होते तो आज का सामना अखबार भगवान राम को मांसाहारी कहने वालों को करारा जवाब देता तीखा प्रहार कर उन पर टूट पड़ता। आज श्रीराम को कोई भी कुछ कहे या हिंदुओं का कोई मजाक बनाए, लेकिन उन्हें यानी उद्धव ठाकरे को कोई फर्क नहीं पड़ता है। वे बर्फ की तरह ठंडे पड़ गए हैं। लेकिन, जब चुनाव का समय आएगा तब वे झूठी ताकत जुटाकर हिंदुत्व की बात करेंगे।” 

वोट की अच्छी राजनीति करनी है

राम कदम ने उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि ”असलीयत तो ये है कि उन्हें न तो हिंदुओं से कोई मतलब है और न ही मराठियों से उन्हें सिर्फ वोट की अच्छी राजनीति करनी है। मातोश्री बंगला 2 बन गया है और अब बस तीसरा कब बनेगा। परिवार कैसे राजनीति में सेट हो, सिर्फ यही तक उनकी राजनीति सीमित है।”

”श्रीराम शाकाहारी नहीं थे, वे मांसाहारी थे”

आपको बता दें कि शरद पवार गुट से NCP के विधायक डॉ. जितेंद्र आव्हाड ने बुधवार को महाराष्ट्र के शिरडी में एक कार्यक्रम में भगवान राम पर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा कि ”श्रीराम शाकाहारी नहीं थे, वे मांसाहारी थे। कैसे कोई व्यक्ति 14 सालों तक जंगल में रहकर बिना शिकार किए रह सकता है? श्रीराम भी जंगल में शिकार करते थे। हम भी उनके आदर्शों पर चल रहे हैं और अब लोगों को जबरदस्ती शाकाहारी बनाया जा रहा है।”

jitendar

जितेंद्र आहवाड़ ने माफी मांगी 

Also Read: भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा पर व्रत रखेंगे पीएम मोदी, सरयू नदी में कर सकते हैं स्नान!

इतना ही नहीं, विवाद बढ़ता देखकर एनसीपी विधायक ने यूटर्न लेते हुए माफी मांग ली है। श्रीराम पर दिए गए विवादित बयान को लेकर जितेंद्र आहवाड़ ने माफी मांगते हुए कहा कि ”मैं अपने भाषण में बोलता चला गया। कभी-कभी गलती हो जाती है। मैं अपने बयान के लिए माफी मांगता हूं। हालांकि, उन्होंने पहले कहा था कि वे अपने बयान पर माफी नहीं मांगने वाले हैं, लेकिन जब विवाद काफी बढ़ गया तो उन्होंने यूटर्न लेते हुए माफी मांग ली।” 

जितेंद्र आव्हाण को को मार डालूंगा 

अयोध्या के संत आचार्य परमहंस ने कहा कि ”केंद्र और महाराष्ट्र सरकार को उन पर कार्रवाई करनी चाहिए। आचार्य ने कहा कि उनकी इस टिप्पणी से करोड़ों रामभक्तों की भावनाएं आहत हुई हैं।”

परमहंस यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि ”अगर सरकार उन पर कोई कार्रवाई नहीं कर पाती है तो वे खुद उनकी हत्या कर देंगे।” उन्होंने कहा कि ”जितेंद्र का बयान अपमानजनक है। मैं केंद्र और महाराष्ट्र सरकार से उनके खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह करता हूं।” उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि ”अगर उन पर कार्रवाई नहीं की गई तो मैं जितेंद्र आव्हाण को मार डालूंगा।”

परमहंस ने दावों को किया खारिज

परमहंस ने आव्हाड के दावों को पूरी तरह खारिज करते हुए कहा कि ”एनसीपी विधायक का बयान भगवान राम का अपमान है। वह पूरी तरह से झूठ है। हमारे धर्मग्रंथों में कहीं पर भी नहीं लिखा है कि भगवान राम ने वनवास के दौरान मांसाहारी भोजन किया था। ऐसे झूठे व्यक्ति को भगवान का अपमान करने का कोई अधिकार नहीं है।”

राम कदम ने दर्ज कराया मामला

मामले की गंभीरता को देखते हुए उधर जितेंद्र आव्हाड पर भाजपा नेता राम कदम ने मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है। उन्होंने कहा कि ”विपक्ष की मानसिकता ही है भावनाएं आहत करने की। वे इस बात को नहीं पचा पा रहे हैं कि अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बन रहा है।”

Ram
 

 

 

Also Read: CM Hemant Soren के करीबियों पर ED ने डाली रेड, झारखंड में यहां हो रही छापेमारी, करीबियों पर नकेल!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *