April 20, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

NUH Violence : नूह में हुई हिंसा को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, सरकार के पास नही था हमले का इनपुट

0

Nuh Violence 2023: 31 अगस्त 2023 को हरयाणा के नूह में दो समुदाय के बीच में झड़प हो गयी. झड़प उस वक़्त हुई जब बजरंग दल (Bajrang Dal) और विश्व हिन्दू परिषद् VHP के कार्यकर्ता भगवा यात्रा निकल रहे थे . जैसे ही यात्रा नूह झंडा पार्क पहुंची तो पथराव शुरू हो गया और कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया.

खबरों के मुताबिक ये पथराव और गोलीकांड मुस्लिम पक्ष के लोगों ने किया है, जिसके बाद हिंदू पक्ष के लोग भी भड़क उठे. दोनों समुदाय ने एक-दूसरे पर जमकर पत्थर चलाए. पथराव (Nuh Violence 2023) में कई लोग घायल हो गए. हिंसा में दो होमगार्डस और एक नागरिक की मौत हो गई और 10 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए.

जानिए क्या आया सरकार का बयान 

NUH Violence 2023

गृह मंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने अपना बयान जारी कर कहा कि नूह हिंसा का इनपुट सरकार के पास नही था. उन्होंने बताया, जाँच करवाई जा रही है कि इनपुट किसके पास आया था किसके पास नही. उस दिन रात में 3 बजे एक व्यक्ति जो की मंदिर में फंसा हुआ था ,उसने हिंसा की सूचना दी तब वहा पुलिस फ़ोर्स को भेजने के लिए निर्देश दिए गये. इस बयान से एक दिन पहले राज्य के होम सेक्रेटरी ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि पुलिस के पास यात्रा पर हमले का इनपुट था.

इससे पता चल रहा है कि हिंसा के इनपुट को लेकर सरकार (Haryana Government) के अंदर सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. आपको बता दे कि ऐसे में अनिल विज ने सीआईडी की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े किए हैं. दरअसल सीआईडी विभाग पहले गृह मंत्रालय के अंडर में था. बाद में इसे मुख्यमंत्री के अधीन कर दिया गया था. उस दौरान भी सीआईडी को लेकर काफी खींचतान हुई थी.

क्या हैं सरकार के अगले कदम???

NUH Violence 2023

नूह हिंसा के बाद अब सरकार एक्शन मोड पे हैं 100 से ज्यादा एफआइआर और 200 से ज्यादा गिरफ़्तारी हो चुकी हैं. नूह जिला कलेक्टर को हटा दिया गया हैं .जिला प्रशासन ने एक बार फिर अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाया है. शनिवार को यहां SHKM गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज के पास अवैध दुकानें तोड़ी गई हैं. इसके साथ ही अवैध कब्जे भी खली कराये गये हैं.

शहर में लगातार बुलडोजर की कार्रवाई से अवैध निर्माण करने वाले लोगों में हड़कंप है. बताया जा रहा हैं की करीब 40 दुकाने अवैध हैं और उन्हें तोड़ा जा रहा हैं. यह वो दुकाने बताई जा रही हैं , जहां पर 31 जुलाई को हिंसा भड़कने के बाद गाड़ियाँ जलाई गयी थी और उस हिंसा में दूकानदार भी शामिल थे .

यह भी पढ़ें : Ram Mandir : मंदिर में रामलला को विराजमान करने की शुरू हुई तैयारी, इस दिन से भक्त कर सकेंगे भगवान का दिव्य दर्शन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *