December 8, 2023

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

तोशाखाना मामले में इमरान खान को बड़ा झटका, कोर्ट ने सुनाई 3 साल की सजा, जाना होगा जेल

0
Imran Khan

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की मुश्किल अब और भी बढ़ गयी है किसी भी वक्त उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है. तोशाखाना मामले (Toshakhana case) में इमरान को इस्लामाबाद जिला-सत्र न्यायलय ने दोषी करार देते हुए तीन साल की सजा सुनाई है. साथ ही उनके ऊपर एक लाख का जुर्माना भी लगाया है. कोर्ट के आदेश के बाद इमरान को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लाहौर स्थित जमां पार्क आवास पर पहुंची है. वही इमरान के समर्थकों का कहना है कि उन्हें लाहौर से गिरफ्तार कर लिया गया है. हालांकि इसको लेकर अभी तक कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है.

इमरान ने कबुली थी गिफ्ट बेचने की बात

Imran Khan

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इमरान खान (Imran Khan) तोशाखाना मामले की सुनवाई के दौरान लगातार गैर-मौजूद रहे हैं. इस वजह से इमरान खान को गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है. इसके लिए इस्लामाबाद पुलिस (Islamabad Police) अपनी समकक्ष पंजाब पुलिस को साथ लेकर पहुंची है. तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के अध्यक्ष और पाकिस्तान के पूर्व पीएम पर आरोप था कि उन्होंने पीएम रहते हुए विदेशों से मिलने वाले महंगे गिफ्ट्स को बेचा था. इमरान खान ने खुद यह बात स्वीकार की है उन्होंने विदेशों से उपहार में मिले कम से कम चार गिफ्ट बेचे थे.

करोड़ो की हुई थी कमाई

Imran Khan

डॉन डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने बताया कि उन्होंने राज्य के खजाने से 2.15 करोड़ रुपए देकर जो उपहार खरीदे थे, उनकी बिक्री से उन्हें करीब 5.8 करोड़ रुपए मिले. उपहारों में से एक ग्रैफ कलाई घड़ी, एक जोड़ी कफ लिंग, एक महंगी पेन और एक अंगूठी शामिल थी. जबकि बाकी तीन उपहारों में रोलेक्स की चार घड़ियां शामिल थीं. इस बीच पाकिस्तानी मीडिया ने बताया कि इमरान ने मित्र खाड़ी देशों से आए उपहारों में से तीन महंगी घड़ियों की बिक्री की थी, जिससे उन्होंने 36 मिलियन रुपये कमाए.

उन्होंने बताया कि इस पूरी प्रक्रिया को उनकी सरकार ने कानूनी अनुमति भी दी थी. हालांकि अक्टूबर 2022 में, पाकिस्तान के चुनाव आयोग की पांच सदस्यीय पीठ द्वारा तोशखाना मामले में इमरान को पांच साल के लिए सार्वजनिक कार्यालय संभालने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. यह भी घोषणा की कि खान के खिलाफ भ्रष्टाचार कानूनों के तहत कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें : NUH Violence : नुहं में हुई हिंसा को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, सरकार के पास नही था हमले का इनपुट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *