April 13, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

भारतीय सुरक्षा को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, अनोखी राइफल का हुआ उद्घाटन!

0
Assault rifle Ugram for Indian Army

Assault rifle Ugram for Indian Army

Ugram: भारतीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भारत हर दिन एक नई पहल को चुनौती दे रहा है। भारत की कोशिश है रक्षा के क्षेत्र में पूरी तरह आत्मनिर्भर बनना। आय दिन इसके लिए रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) के प्रयासों और उपलब्धियों की चर्चा होती रहती है। इस बीच DRDO ने सशस्त्र बलों के लिए स्वदेशी असॉल्ट राइफल लॉन्च कि है। डीआरडीओ ने सोमवार को 7.62 x 51 मिमी कैलिबर की एक अत्याधुनिक असॉल्ट राइफल लॉन्च की जिसका नाम उग्राम (Ugram) है। यह देश को बड़े खतरे से बचाने की ताकत रखता है साथ ही इससे सेना को दुश्मनों से लड़ने में काफी मदद मिलेगी।

सशस्त्र बल, अर्धसैनिक बल और राज्य पुलिस को मिलेगा लाभ

इस राइफल की रेंज लगभग 500 मीटर है और वजन चार किलोग्राम से कम है। इसे डीआरडीओ की पुणे स्थित ARDE (आर्मामेंट रिसर्च एंड डेवलपमेंट एस्टेब्लिशमेंट) और हैदराबाद स्थित एक प्राइवेट फर्म, डीवीपा आर्मर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से बना गया है। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि सशस्त्र बल, अर्धसैनिक बल और राज्य पुलिस तक इस्तेमाल कर सकें। यह सैनिकों की जरुआतों को पूरी करने की ताकत रखता है।

बहुत कम समय में हुआ लॉन्च

Also Read: #boycottmaldives में भारत के साथ शामिल हुआ इजरायल, मालदीव की अर्थव्यवस्था को लग सकता है बड़ा झटका!

इस राइफल का उद्घाटन डीआरडीओ के आर्मामेंट एंड कॉम्बैट इंजीनियरिंग (एसीई) सिस्टम के महानिदेशक शैलेन्द्र गाडे ने किया। सुरक्षा बलों में असाल्ट राइफलों की कमी थी लेकिन इस राइफल के आने से उग्राम (Ugram) महत्व बढ़ गया है। ‘उग्राम’ को 100 दिनों के रिकॉर्ड से भी कम समय में ही लॉन्च किया गया है। यह एक नया और अनोखा हथियार है।

60 करोड़ रुपये की लागत से हुआ तैयार

खबरों के मुताबिक रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध की वजह से एके-203 राइफलों का आयात प्रभावित हुआ है। वहीं इस परियोजना पर डीआरडीओ के 60 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। इससे आयात पर निर्भरता भी कम होगी। सरकार के इस फैसले से देश की सुरक्षा को काफी लाभ मिलेगा।

 

Also Read: लक्षद्वीप में बढ़ेगी टूरिज्म की तादाद, यह है Tata Group का लक्षद्वीप 2026 प्लान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *