April 16, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

इंडी गठबंधन को एक और बड़ा झटका, फारूक अब्दुल्ला ने अकेले चुनाव लड़ने का किया ऐलान

0
farooq-abdullah

farooq-abdullah

Farooq Abdullah: ममता, केजरीवाल और जयंत के बाद अब फारूख अब्दुल्ला ने भी अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। फारूख ने जम्मू-कश्मीर में नेशनल कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि ‘वह अपने बलबूते पर चुनाव लड़ेंगे।’ एक ओर फारूख ने एनडीए गठबंधन में शामिल होने के संकेत दिए हैं। वहीं दूसरी और उन्होंने यह भी क्लीयर किया की वह किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेंगे। अब्दुल्ला के इस बयान से इंडिया गठबंधन की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं।

पार्टी से गठबंधन नहीं करेंगे

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के चीफ फारूख अब्दुल्ला ने एनडीए गठबंधन में शामिल होने के संकेत दिए हैं। ऐसा खबरों से पता चला है कि फारूख किसी भी पार्टी से गठबंधन करने को तैयार नहीं हैं। उनकी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस जम्मू कश्मीर में अकेले चुनाव लड़ेगी।

 

Also Read: Supreme Court के इस आदेश से राजनीतिक पार्टियों को बड़ा नुकसान, Electoral Bonds को बताया असंवैधानिक

हम अकेले चुनाव लड़ेंगे

फारूख ने श्रीनगर में कहा कि, “मैं समझता हूं कि जम्मू-कश्मीर में विधानसभा और लोकसभा चुनाव एक साथ होंगे। जहां तक सीट शेयरिंग की बात हैं तो बता दूं कि नेशनल कॉन्फ्रेंस अकेले चुनाव लड़ेगी और इस बारे में कोई शक नहीं है।”

प्रधानमंत्री से मिलने में रुचि

फारूख अब्दुल्ला ने एक इंटरव्यू में कहा है कि ”मुझे देश बनाने के लिए जो करना पड़ेगा, वो करूंगा।” वहीं जब इंटरव्यू में उनसे सवाल किया गया कि क्या वह प्रधानमंत्री और गृहमंत्री से मिलेंगे? इस पर उतर देते हुए अब्दुल्ला ने कहा कि ”जब वो बुलाएंगे तो कौन बात नहीं करना चाहेगा।”

एनडीए में शामिल होने की संभावना

अब्दुल्ला ने एनडीए में शामिल होने पर कहा कि ”हम भविष्य में एनडीए में शामिल होने की संभावनाओं को नकार नहीं सकते।” उन्होंने कांग्रेस पर इलजाम लगाते हुए कहा कि ”इंडिया ब्लॉक में सीटों की शेयरिंग पर बातचीत फेल हो गई थी, इस वजह से अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है।”

पंजाब में केजरीवाल का ऐलान

वहीं आम आदमी पार्टी ने भी पंजाब में सभी 13 लोकसभा सीटों पर अकेले उम्मीदवार उतारने की घोषणा कर चुके हैं। पहले AAP की ओर से कांग्रेस को 6 सीटों का ऑफर दिया गया था, लेकिन बात नहीं बनी।

दिल्ली में बिगड़ी बात

वहीं दिल्ली में कांग्रेस को सिर्फ एक सीट का ऑफर दिया गया है, लेकिन इसके तहत कुछ ही दिन का समय दिया गया है और कहा गया है कि कांग्रेस पार्टी इसको लेकर जल्द ही क्लीयर करे, नहीं तो हम सभी सातों सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर देंगे।

पश्चिम बंगाल में ममता का वार

बता दें कि इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में अकेले दम पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है। पहले टीएमसी की ओर से कांग्रेस को दो सीटों का ऑफर दिया गया था, लेकिन कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी और नेताओं के बीच कहासुनी के बाद टीएमसी ने राज्य की 42 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है।

यूपी में डूबती नैया

यूपी में भी इंडिया गठबंधन के हालात ठीक नहीं चल रहें हैं यहां भी इन की नैया डूबती दिखाई दे रही है। जयंत चौधरी की राष्ट्रीय लोकदल ब्लॉक से अलग हो चुकी है, उन्होंने तो एनडीए में शामिल होने का ऐलान कर दिया है। वहीं समाजवादी पार्टी की बात करें तो कांग्रेस को 11 सीटों का ऑफर दिया गया है, जिसको लेकर कांग्रेस ने अबतक कुछ भी क्लीयर नहीं किया है।

 

Also Read: सोनिया गांधी नहीं लड़ेंगी लोकसभा चुनाव, रायबरेली की जनता को लिखी भावुक चिट्‌ठी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *