April 19, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

सौरव गांगुली की बढाई गई सुरक्षा, पश्चिम बंगाल सरकार का फैसला

0
Saurav Ganguly

पश्चिम बंगाल सरकार ने नए सुरक्षा इंतजाम के तहत भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और पूर्व बीसीसीआई (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) की सुरक्षा Y श्रेणी से बढाकर Z श्रेणी की कर दी है. नए इंतजाम के तहत अब उनकी सुरक्षा में 8 से 10 पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे. पहले गांगुली (Saurav Ganguly) के Y श्रेणी की सुरक्षा में सिर्फ 3 पुलिसकर्मी लगे थे, और उतने ही सुरक्षाकर्मी उनके बेहला निवास पर रहते थे.

क्यों बढाई गई दादा की सुरक्षा?

Saurav Ganguly

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के दादा ‘सौरव गांगुली’ (Saurav Ganguly) की सुरक्षा नये इंतजाम के तहत बढाई गई है. गांगुली के Y श्रेणी सुरक्षा अवधि 16 मई, 2023 को समाप्त हो गयी और इसके बाद यह फैसला लिया गया. समाचार एजेंसी पीटीआई (PTI) से बंगाल सरकार के एक अधिकारी ने बताया, ”वीवीआईपी (VVIP) की सुरक्षा खत्म होने के बाद प्रोटोकॉल के मुताबिक समीक्षा की गई. उसके बाद गांगुली की सुरक्षा को जेड श्रेणी तक बढ़ाने का फैसला किया गया.”

21 मई से बढाई जायगी सुरक्षा

Saurav Ganguly

राज्य सचिवालय के प्रतिनिधि मंगलवार को बेहला कार्यालय पहुंचे, जहाँ उन्होंने कोलकाता पुलिस मुख्यालय लालबाजार और स्थानीय पुलिस स्टेशन के अधिकारियों के साथ बैठक की. अधिकारी ने बताया, “गांगुली फिलहाल अपनी टीम दिल्ली कैपिटल्स के साथ यात्रा कर रहे हैं और 21 मई को कोलकाता लौटेंगे. उसी दिन से उन्हें जेड श्रेणी की सुरक्षा मिलनी शुरू हो जाएगी.”

आपको बता दें, पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से राज्यपाल सीवी आनंद बोस (CV Ananda Bose), मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamta Benarjee), तृणमूल कांग्रेस के सांसद और राष्ट्रीय सचिव अभिषेक बनर्जी, फिरहाद हकीम और मोलॉय घटक जैसे मंत्रियों को जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाती है. भाजपा के पश्चिम बंगाल अध्यक्ष सुकांत मजूमदार को सीआईएसएफ सुरक्षा के साथ जेड प्लस सुरक्षा भी मिलती है. अब इस कड़ी में सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) का भी नाम जुड़ चुका है.

यह भी पढ़ें : क्रुनाल पांड्या के रिटायर होने के फैसले को लेकर उठ रहे हैं सवाल, अब अश्विन के इस ट्वीट ने मचाई खलबली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *