March 3, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

आज ही के दिन वनडे क्रिकेट को मिला था उनका पहला विश्व चैंपियन, ऑस्ट्रेलिया को हराकर वेस्टइंडीज ने जीती थी ट्रॉफी

0
World cup 1975

World cup 1975 : आज की तारीख यानि कि 21 जून का क्रिकेट के इतिहास में एक अलग महत्व है. दरअसल आज ही के दिन साल 1975 में क्रिकेट की दुनिया को उनका पहला विश्व चैंपियन मिला था. क्लाइव लॉयड की कप्तानी वाली वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 17 रनो से हराकर पहली वनडे वर्ल्ड कप (World cup 1975) की ट्रॉफी अपने नाम की थी. लॉयड ने इस मैच में फ्रंट से लीड करते हुए एक कप्तानी पारी खेलकर अपनी टीम को चैम्पियन बनाया था. इस मैच में उन्होंने एक शानदार शतकीय पारी खेली थी.

ऑस्ट्रेलियन कप्तान इयान चैपल ने जीता था टॉस

World cup 1975

World cup 1975: ग्रुप स्टेज में अजय रही और न्यूजीलैंड को सेमीफाइनल मुकाबले में हराकर फाइनल में पहुंची वेस्टइंडीज की टीम के सामने इयान चैपल की कप्तानी वाली मजबूत ऑस्ट्रेलियन टीम की चुनौती थी. इस बेहद ही महत्वपूर्व मैच में टॉस की बाजी भी चैपल ही मार गए और उन्होंने वेस्टइंडीज की टीम को पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया. लेकिन, वेस्टइंडीज के कप्तान ने उनके इस फैसले को पूरी तरह से गलत साबित कर दिया था.

वेस्टइंडीज ने खड़ा किया था 291 रनो का स्कोर

World cup 1975

World cup 1975: टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं हो पायी थी. टीम ने अपने शुरूआती 3 विकेट केवल 50 रनो पर ही गवां दिए थे. लेकिन कप्तान क्लाइव लॉयड उस दिन एक अलग मूड में ही आये थे. उन्होंने विकेटकीपर बल्लेबाज रोहन कन्हाई के साथ मिलकर ना केवल टीम को मुश्किलों से उबारा बल्कि 291 रनो के एक बड़े टोटल तक भी पहुंचाया.

दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर चौथे विकेट के 149 रनो की साझेदारी निभायी थी. रोहन ने 105 गेंदों पर 55 रन बनाये थे. जबकि क्लाइव लॉयड ने उस जमाने में केवल 85 गेंदों पर 12 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 102 रनो की तूफानी पारी खेली थी.

5 रनआउट ने किया ऑस्ट्रेलियन टीम का बेड़ा गर्क

World cup 1975

World cup 1975: लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की टीम अपने 9 विकेट 232 रनो पर ही गवां चुकी थी. लेकिन उसके बाद गेंद से कहर बरपाने वाले डेनिस लिली और जेफ थॉमसन की जोड़ी ने बल्ले से भी अपनी टीम को मैच जीताने का बीड़ा उठाया.

दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर आखिरी विकेट के लिए 41 रन जोड़े थे. लेकिन, थॉमसन के रनआउट होने के कारण ऑस्ट्रेलिया की टीम 10 घंटों तक चली इस फ़ाइनल मुकाबले को जीतने से 17 रन पीछे रह गयी. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया का सबसे ज्यादा अगर किसी ने बेड़ा गर्क किया तो वो था टीम के 5 बलबाजों का रनआउट होना. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे ज्यादा 62 रन कप्तान इयान चैपल ने ही बनाये थे.

 

यह भी पढ़ें : PCB को मिलेगा नया चेयरमैन, नज़म सेठी ने लिया चुनाव से नाम वापस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *