April 19, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

भतीजे अखिलेश को लेकर एक बार फिर छलका Shivpal Yadav का दर्द, कहा- एक हेलीकॉप्टर दे देते तो आज होती हमारी सरकार

0
Shivpal Yadav Akhilesh Yadav

इटावा : प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Yadav) सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी से 600 संविदाकर्मियों को निकालने के विरोध में धरने पर बैठे हैं. इस दौरान शिवपाल यादव ने सैफई यूनिवर्सिटी की बदहाली को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने की बात भी कही. धरने में उनके साथ उनके पुत्र और प्रसपा के प्रदेश अध्यक्ष आदित्य यादव और संविदा कर्मचारी भी मौजूद रहे. वहीं, एक बार फिर शिवपाल का भतीजे अखिलेश यादव को लेकर दर्द छलका.

छंटनी और कटौती का विरोध कर रहे हैं कर्मचारी

Shivpal Yadav

बता दें कि सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में पूर्व सैनिक कल्याण निगम से संबद्ध 587 कर्मचारी छंटनी और वेतन कटौती के विरोध में धरने पर बैठे हैं. इस मौके पर शिवपाल (Shivpal Yadav) भी उनके साथ धरने पर बैठकर उनका हौसला बढ़ाया और कहा कि यह यूनिवर्सिटी नेताजी (मुलायम सिंह यादव ) का सपना है और हम इसको बर्बाद नहीं होने देंगे. उन्होंने कहा कि किसी के साथ भी अन्याय नहीं होने दिया जाएगा. इस मामले को लेकर उन्होंने सीएम योगी से मिलकर इसका निस्तारण करने की बात कही.

अखिलेश को लेकर फिर छलका दर्द

Shivpal Yadav

कर्मचारियों को संबोधित करते हुए शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Yadav) का भतीजे अखिलेश यादव को लेकर एक बार फिर दर्द छलका. इशारों ही इशारों बिना नाम लिए उन्होंने अखिलेश को सैफई की दुर्दशा के लिए जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा कि यदि आज अपनी सरकार होती तो हम लोगों को यह दिन न देखना पड़ता.’ नेता जी का सपना इस तरह से बर्बाद नहीं होता.

शिवपाल ने आगे कहा, ‘सरकार क्यों नहीं बनी सबको पता है, हमने तो एक ही सीट पर तसल्ली कर ली, फिर भी वो सरकार नहीं बना पाए तो इसमें मेरी कोई गलती नहीं. अगर हमें जिम्मेदारी मिली होती और हर मंडल में एक- एक सीट साथ में एक हेलीकॉप्टर दे देते तो हर विधानसभा में सपा के 20 हजार वोट बढ़ जाते.’ और आज हमारी सरकार होती.

जन्माष्टमी पर अखिलेश को बताया था कंस

Akhilesh Yadav

इससे पहले जन्माष्टमी के अवसर पर शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने यदुवंशियों को एक खुला खत लिखा था. जिसमें उन्होंने अखिलेश यादव की तुलना कंस से की थी. उन्होंने खत में लिखा था कि- “समाज में जब कोई ‘कंस’ अपने पूज्य पिता को छल-बल से अपमानित कर पद से हटाकर अवैध तरीके से खुद को स्थापित करता है, तो धर्म की रक्षा के लिए मां यशोदा के लाल, ग्वालों के सखा योगेश्वर श्रीकृष्ण अवश्य अवतार लेते हैं. अपने योग माया से अत्याचारियों को दंड देकर धर्म की स्थापना करते हैं.”

उनके इस बयान को अखिलेश और उनके पिता मुलायम सिंह के साथ हुई स्टेज की घटान जिसमें अखिलेश ने पिता मुलायम के हाथ से माईक छिन लेने की घटना को जोड़कर देखा गया था.

ये भी पढ़ें- Shrikant Tyagi मामले में समाजवादी पार्टी की एंट्री, अखिलेश के निर्देश पर त्यागी के परिवार से मिलेगा सपा का प्रतिनिधिमंडल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *