February 26, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

रामलला निमंत्रण ठुकराना कांग्रेस को पड़ा भारी, 48 साल बाद इस नेता ने पार्टी को कहा ‘अलविदा’

0
anand-sharma

anand-sharma

Ram  Mandir: राम मन्दिर प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण कांग्रेस को भी भेजा गया था। पहले तो कांग्रेस ने आमंत्रण स्वीकार कर लिया बाद में आचनक से कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि कोई भी कांग्रेस की ओर से 22 जनवरी को रामलला प्राण प्रतिष्ठा में शामिल नहीं होगा। अब इस बात से आहत होकर कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कांग्रेसी का साथ छोड़ने का फैसला लिया है।

बता दें कि अयोध्या में होने वाली प्राण प्रतिष्ठा के लिए कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं को आयोजन में शामिल होने के लिए आमंत्रण पत्र भेजा गया था। जिसमें से कांग्रेस के कई नेताओं ने इस आमंत्रण को ठुकरा दिया। जिसके बाद से कांग्रेस नेतओं में फूंट पड़ती दिखाई दे रही है। दरअसल पार्टी के कुछ नेता ऐसे हैं जो रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा में शामिल होना चाहते हैं। इस बात से प्राण-प्रतिष्ठा में ना जाने वाले नेताओं को तकलीफ हो रही है। लेकिन एक नेता को कांग्रेस का यह रवैया जरा भी अच्छा नहीं लगा और इस बात से खफा होकर ग्वालियर के कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने पार्टी छोड़ने का फैसला ले लिया।

आमंत्रण की अनदेखी से तकलीफ हुई

Also Read: Mayawat : INDIA गठबंधन नहीं अकेली लड़ती आई हैं अकेले लड़ लेंगी चुनाव, अखिलेश को खा गिरगिट

खबरों के मुताबिक आनंद शर्मा ने कांग्रेस छोड़ने के अपने इस फैसले पर जानकारी देते हुए कहा है कि ‘’आज यह जो कुछ भी हो रहा है उसकी आधारशिला कांग्रेस ने ही रखी थी, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के समय की कांग्रेस की नीतियों की वर्तमान दौर में अवहेलना हो रही है।‘’ आनंद शर्मा ने कहा कि ‘’वह पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्व द्वारा रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के आमंत्रण की अनदेखी करने पर काफी दुखी हैं इसलिए उन्होंने पार्टी के सभी दायित्वों से त्यागपत्र दे दिया है।‘’

बीजेपी का दामन थामने को तैयार

आनंद शर्मा पिछले 48 साल से कांग्रेस के सदस्य हैं। कांग्रेस पार्टी ने शर्मा को कई दायित्व दिए हैं। आनंद शर्मा तीन बार पार्षद रह चुके हैं। इसके अलावा वर्तमान में वे कांग्रेस के शहर जिला प्रवक्ता हैं और ग्वालियर नगर निगम में कांग्रेस दल के प्रभारी भी हैं, लेकिन पार्टी द्वारा रामलला प्राण प्रतिष्ठा का आमंत्रण ठुकराए जाने से 48 साल पुराने कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा ने एक झटके में पार्टी को छोड़ दिया। आनंद शर्मा ने बताया कि ‘’वे केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मिले तो सिंधिया ने बड़ी आत्मीयता के साथ उनसे मुलाकात की और अब वह मंगलवार को मुख्यालय मुखर्जी भवन पहुंचकर बीजेपी का दामन थामेंगे।

कांग्रेस पर भड़की थी भाजपा सांसद

कांग्रेस द्वारा राम मंदिर का न्योता ठुकराने पर BJP सासंद प्रज्ञा ठाकुर को भी गुस्सा आ गया था। उन्होंने कहा था कि ”विरोधियों को बुलाना ही नहीं चाहिए था। कांग्रेस ने न्योता ठुकराकर सनातनियों और देश की जनता की भावना को अपमानित किया है। कांग्रेस तो प्रभु राम के अस्तित्व को अस्वीकार करती आ रही है। ऐसे लोगों को आमंत्रण ही नहीं देना चाहिए था। राम के अस्तित्व को ना मानने वाले खुद के अस्तित्व को खत्म कर देंगे।‘’

 

Also Read: जैकी श्रॉफ ने राम मंदिर सफाई अभियान में लिया हिस्सा, फैंस कर रहे सादगी की तारीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *