April 14, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

विदेश जाने को तैयार राहुल गांधी, भारत जोड़ो न्याय यात्रा छोड़ने का लिया फैसला, जानें क्या है वजह?

0
Rahul Gandhi

Rahul Gandhi

Rahul Gandhi Foreign Visit: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मोहब्बत की दुकान भारत जोड़ो न्याय यात्रा को बीच में छोड़ने का फैसला लिया है। 26 फरवरी को राहुल गांधी यात्रा छोड़कर विदेश रवाना होंगे। वहीं इसके 5 दिन बाद राहुल यात्रा में फिर से जुड़ेंगे। राहुल ने यह फैसला क्यों किया है? इसकी वजह सामने आ गई है।

राहुल गांधी इसलिए जा रहे विदेश?

कांग्रेस के संचार महासचिव जयराम रमेश ने बताया कि ”राहुल गांधी 26 फरवरी से 1 मार्च तक भारत जोड़ो न्याय यात्रा से ब्रेक लेंगे, क्योंकि दिल्ली में लोकसभा चुनाव को लेकर कई महत्वपूर्ण बैठकें होंगी। इस बैठक में राहुल गांधी का उपस्थित होना बहुत जरूरी है। इसके अलावा, राहुल 27-28 फरवरी को कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी जाएंगे और वहां दो लेक्चर देंगे।”

jairam_ramesh

Also Read: INDIA Alliance: यूपी में टूटा इंडी गठबंधन, सीट बंटवारे को लेकर नहीं बनी बात, सपा में भी तकरार

महाकालेश्वर में महाकाल के दर्शन

जयराम रमेश ने आगे कहा कि ”हम 2 मार्च से यात्रा फिर से शुरू करेंगे।” रमेश ने बताया कि ”राहुल गांधी 5 मार्च को उज्जैन जाएंगे, जहां वह महाकालेश्वर मंदिर में भगवान महाकाल के दर्शन करेंगे।”

मोदी की गारंटी की क्या बात है?

रमेश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधाते हुए कहा कि ”पीएम मोदी अमृतकाल के नाम पर देश को गुमराह किए जा रहें हैं। पीएम के पिछले 10 साल अन्याय काल के हैं।” प्रधानमंत्री कहते हैं ”मोदी की गारंटी लेकिन जब मोदी की वारंटी खत्म होती है तो मोदी की गारंटी की क्या बात है?” 

न्याय यात्रा उन्नाव पहुंची

बता दें कि भारत जोड़ो न्याय यात्रा का आज 39वां दिन है। यह यात्रा उन्नाव पहुंच गई है। यात्रा के कानपुर पहुंचने के बाद 22 और 23 फरवरी को विश्राम किया जाएगा। उसके बाद 24 फरवरी को यात्रा फिर से शुरू की जाएगी। यात्रा मुरादाबाद से शुरू होकर संभल, अलीगढ़, हाथरस और आगरा जिलों से होते हुए राजस्थान में एंट्री करेगी।

गठबंधन टूटने की वजह सीट शेयरिंग

दरअसल देखा जाए तो इंडी गठबंधन पूरी तरह से टूट चुका है। कांग्रेस अब किसके दम पर लोकसभा का चुनाव लड़ेगी। कौन से नए चेहरे को उतारेगी। यह सोचने वाली बात है। वैसे कांग्रेस के पास फिलहाल कोई बड़ा चेहरा बचा नहीं है। कांग्रेस से एक-एक करके दिग्गज नेता पार्टी छोड़कर जा रहे हैं। वहीं जिन पार्टियों ने गठबंधन किया था। उन सब ने किनारा कर लिया है सिर्फ सीट शेयरिंग की वजह से गठबंधन टूटा है।

 

Also Read: महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण बिल को मिली मंजूरी, सीएम बोले- किसी भी बिल से नहीं की गई छेड़छाड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *