March 2, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

Teacher Recruitment Scam: शिक्षक भर्ती घोटाले में ईडी की बड़ी कार्रवाई , पार्थ चटर्जी और उनके सहयोगियों की 48 करोड़ की संपत्ति कुर्क

0
Partha Chatterjee Teacher Recruitment Scam

Teacher Recruitment Scam: पश्चिम बंगाल में हुए कथित शिक्षक भर्ती घोटाले (Teacher Recruitment Scam) में ईडी (प्रवर्तन निदेशाल) में बड़ी कार्रवाई की है. ईडी ने शिक्षक भर्ती घोटाले में पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) और उनके सहयोगियों की 48 करोड़ रुपये की संपत्तियां कुर्क की हैं. ईडी का कहना है कि कुर्क की गई संपत्तियों में अचल संपत्तियां भी शामिल हैं.

मनी लॉन्ड्रिंग जांच के तहत कार्रवाई- ईडी

बता दें कि आज सोमवार को ईडी (ED) ने शिक्षक भर्ती घोटाले (Teacher Recruitment Scam) में ताबड़तोड़ कार्रवाई की है. जिसके तहत ईडी ने घोटाले में मुख्य आरोपी पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) और उनके सहयोगियों पर कार्रवाई की है. इस दौरान ईडी ने घोटाले में मनी लॉन्ड्रिंग जांच के तहत 48 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है. ईडी ने बताया कि-कुर्क की गई संपत्तियों में 40 अचल संपत्तियां शामिल हैं, जिनकी कीमत 40.33 करोड़ रुपये है. जिसमें 35 बैंक खातों में 7.89 करोड़ रुपये की शेष राशि है. इसके अलावा कुर्क की गई संपत्तियों में फ्लैट, फार्महाउस, कोलकाता शहर में जमीन और बैंक खातों में जमा राशि शामिल है.

अब तक 103.10 करोड़ की संपत्ति बरामद

अर्पिता मुखर्जी

केंद्रीय एजेंसी के अनुसार, कुर्क की गई कई संपत्तियां शेल कंपनियों और चटर्जी के लिए प्रॉक्सी के रूप में काम करने वाले व्यक्तियों के नाम पर थीं. बता दें कि ईडी ने इससे पहले शिक्षक भर्ती घोटाले (Teacher Recruitment Scam) को लेकर पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) और उनकी सहयोगी अभिनेत्री अर्पिता मुखर्जी (Arpita Mukherjee) को गिरफ्तार किया था.

ईडी को छापेमारी के दौरान 22 जुलाई और 27 जुलाई को इनके दो स्थानों से कुल 49.80 करोड़ रुपये की नकदी और 5.08 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के सोने और आभूषण बरामद हुए थे. यदि आज कुर्क की गई संपत्ति को जोड़ दे तो इस घोटाले में अब तक कुल 103.10 करोड़ की संपत्ति बरामद हुई है.

21 सिंतबर तक सीबीआई की हिरासत में चटर्जी

Partha Chatterjee

बता दें कि ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग अधिनियम के तहत चटर्जी को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद कोलकाता की एक अदालत ने उन्हें 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. वहीं, अब सीबीआई ने शिक्षक भर्ती घोटाले (Teacher Recruitment Scam) में पूछताछ के लिए हिरासत की मांग की थी. जिसपर अदालत ने पिछले शुक्रवार को 21 सितंबर तक के लिए पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) को पूछताछ के लिए केंद्रीय जांच एजेंसी की हिरासत में भेजा है.

ये भी पढ़े- Asaduddin Owaisi का अमित शाह के अखंड भारत वाले बयान पर पलटवार, कहा- हैदराबाद के बिना भारत अधूरा…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *