February 27, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

17वीं लोकसभा में पीएम का आखिरी भाषण, ऐतिहासिक फैसलों पर की बात

0
PM Modi

PM Modi

Parliament Budget Session: आज 17वीं लोकसभा का आखिरी सत्र भी समाप्त हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान संसद में भाषण दिया। पीएम ने देश के विकास से लेकर भविष्य में देश की पहचान और 17वीं लोकसभा में किए गए ऐतिहासिक फैसलों पर भी बात की। साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि ”इस कार्यकाल में बहुत से काम किए गए, बहुत से बदलाव हुए, जिससे कई गेम चेंज हो गए।”

देश का काम रुकने नहीं दिया

पीएम मोदी ने कहा कि, ”पांच साल देश में रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के रहे, देश 17वीं लोकसभा को आशीर्वाद देता रहेगा। इन पांच सालों में सदी का सबसे बड़ा संकट मानव जाति ने झेला है, कौन बचेगा, कौन नहीं, कोई किसी को बचा पाएगा या नहीं? घर छोड़कर निकलना भी मुश्किल था, उसके बाद भी संसद बैठी, स्पीकर ने देश का काम रुकने नहीं दिया।”

Also Read: EPFO की तरफ से मिल सकता है 7 करोड़ लोगों को तोहफा, पीएफ पर बढ़ सकती है ब्याज दर

17वीं लोकसभा के काम गिनाए​

रिफॉर्म हुए जो गेमचेंजर रहे

पहले सत्र में दोनों सदनों ने कुल 30 विधेयक पारित किए गए, जो रेकॉर्ड रहा है, आजादी के 75 वर्ष पूरा होने के उत्सव के दौरान हमारे सदन ने बेहद अहम कामों को आंजाम दिया, संसद के इस कार्यकाल में बहुत रिफॉर्म हुए जो गेमचेंजर रहे। 21वीं सदी के भारत की मजबूती रखी गई।

आर्टिकल 370 हटा, आतंकवाद के खिलाफ कानून बने

हमारी पीढ़ियां जिन बातों का इंतजार करती थीं, ऐसे बहुत से काम 17वीं लोकसभा में पूरे हुए हैं, आर्टिकल 370 को हटाए गए जिन लोगों ने संविधान बनाया होगा, उनकी आत्मा हमें आशीर्वाद देती होगी। कश्मीर के लोगों को सामाजिक न्याय से वंचित रखा गया था आज जम्मू कश्मीर के लोगों तक भी सामाजिक न्याय का संकल्प पहुंचा है। वहीं आतंकवाद देश की धरती के लिए नासूर बन गया था इसलिए हमने आतंकवाद के खिलाफ सख्त कानून बनाए। इसके तहत भारत को आतंकमुक्त करने का सपना सच हो रहा है।

नारी सम्मान के हक में काम हुआ

तीन तलाक से मुक्ति और नारी सम्मान का काम 17वीं लोकसभा ने किया है। भले ही कुछ सांसदों का विचार कुछ भी रहा हो, लेकिन कभी न कभी वे भी कहेंगे कि यह काम हमने होते देखा है।

अगली पीढ़ी न्याय संहिता के साथ जीयेगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ”75 वर्षों तक हम अंग्रेजों द्वारा दी गई दंड संहिता के साथ रहे। नई पीढ़ी से हम गर्व से कह सकते हैं कि देश भले ही 75 साल तक दंड संहिता के अधीन रहा हो, लेकिन अगली पीढ़ी न्याय संहिता के साथ जीयेगी।”

25 साल में विकसित भारत बनेगा

पीएम मोदी ने कहा, ‘‘आने वाले 25 वर्ष हमारे देश के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। देश की आकांक्षा, देश का सपना, देश का संकल्प बन गया है कि आने वाले 25 साल में देश इच्छित परिणाम प्राप्त करके रहेगा। मैं आज देख रहा हूं कि देश में जज्बा पैदा हुआ है कि 25 साल में विकसित भारत बनेगा। कुछ लोगों ने सपने को संकल्प बना लिया है, कुछ देर कर रहे हैं लेकिन जुड़ेंगे वे भी। जो न सपने से जुड़े हैं न संकल्प से, वे भी तब फल खाएंगे ही खाएंगे।”

 

Also Read: पश्चिम बंगाल में TMC नेता शाहजहां की गिरफ्तारी के लिए महिलाओं का प्रदर्शन, पुलिस भी कर रही तलाश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *