March 3, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

PM मोदी ने राज्यसभा में पढ़ी नेहरू की चिट्ठी, बाबा साहब को भी किया याद!

0
pm-modi-speech

pm-modi-speech

PM Modi Speech: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बजट सत्र की शुरुआत करते हुए अभिभाषण दिया था। जिसके जवाब में बुधवार यानी आज 7 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर अपनी बात रखते हुए विपक्ष पर निशाना साधा है।

पीएम मोदी ने राज्यसभा में कहा कि ”आजकल जाति की बात होने लगी है। मैं कहता हूं जाति की जरूरत क्यों पड़ गई है? कांग्रेस अपने गिरेबान में झांके। दलित, पिछड़े और आदिवासी की कांग्रेस जन्मजात विरोधी रही है और आज जाति की बात कर रही है।”

पूरी तैयारी के साथ आया हूं

वहीं पीएम मोदी ने कहा कि ”मैं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे का आभार व्यक्त करता हूं। उस दिन मैं इन्हें बहुत ध्यान और आनंदपूर्वक सुन रहा था। लोकसभा में मनोरंजन की जो कमी खल रही थी, खड़गे ने वो पूरी कर दी थी।”
पीएम ने आगे कहा कि ”मल्लिकार्जुन खड़गे जी हम आपके एक-एक शब्द को बड़े धैर्य से सुनते रहे, लेकिन आज भी खड़गे जी आप न सुनने की तैयारी से नहीं आए हैं। आप मेरी आवाज को दबा नहीं सकते हैं, क्योंकि देश की जनता ने आप मेरी आवाज को ताकत दी है। इस बार मैं भी पूरी तैयारी के साथ आया हूं।”

कांग्रेस 40 सीट भी नहीं जीत पाएगी

पीएम बिना नाम लिए ही ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए बोले कि ”पश्चिम बंगाल से चुनौती आई है कि कांग्रेस इस बार 40 सीट भी नहीं जीत पाएगी। मैं प्रार्थना करता हूं कि आप 40 बचा पाएं। मुझे विश्वास है कि यह पार्टी सोच के मामले में पुरानी हो चुकी है, इसलिए उन्होंने अपना कार्य आउटसोर्स कर दिया है। देश पर राज करने वाली इतनी बड़ी पार्टी गर्त की ओर जा रही है।”

कांग्रेस ने लोकतंत्र का गला घोंटा

पीएम मोदी ने आगे कहा कि ”सत्ता के लालच में कांग्रेस ने लोकतंत्र का गला घोंटा, दर्जनों बार लोकतांत्रिक तरीके से आई सरकारों को रातों-रात बर्खास्त किया, अखबारों पर भी ताले लगाने की कोशिश की, अब उसी पार्टी ने देश को तोड़ने का नैरेटिव गढ़ना शुरू कर दिया है। देश को अब उत्तर-दक्षिण में तोड़ने के बयान दिए जा रहे हैं।”

Also Read: सामने आया यूपी सरकार का बजट 2024-25, धार्मिक कार्यों को पर रहीं खास नजर

राहुल स्टार्टअप नहीं नॉन स्टाटर हैं

पीएम मोदी ने राहुल गांधी पर इशारों में तंज कसते हुए कहा कि ”इन लोगों की मर्यादा इतनी है कि इन्होंने अपने युवराज को स्टार्टअप बना दिया। वो नॉन स्टाटर हैं। न तो वो लिफ्ट हो रहा न तो वो लॉन्च हो रहा है।”

हिंदुस्तान का दर्द सबका दर्द है

पीएम मोदी ने कहा कि ”राष्ट्र हमारे एक जमीन का टुकड़ा नहीं है। हम सबके लिए प्रेरणा देने वाली ईकाई है। जैसे शरीर होता है। हिंदुस्तान के किसी भी कोने में दर्द हो तो पीड़ा सबको होनी चाहिए। देश का कोई कोना, कोई क्षेत्र विकास से वंचित हो जाएगा तो हमें भारत को एक देखना चाहिए। जिस प्रकार से इन दिनों भाषा बोली जा रही है। देश को तोड़ने के लिए जो किया जा रहा है, वो ठीक नहीं है।”

कांग्रेस ने बाबा साहब को योग्य नहीं समझा

पीएम मोदी ने कहा कि ”जिस कांग्रेस ने कभी भी पूरी तरह से ओबीसी को आरक्षण नहीं दिया, जिसने सामान्य वर्ग के गरीबों को आरक्षण के दायरे में नहीं लाया, जिसने बाबा साहब को भारत रत्न के योग्य नहीं समझा, वे भारत रत्न सिर्फ अपने परिवार को देते रहे। अब वे लोग हमें उपदेश दे रहे हैं और सामाजिक न्याय का पाठ पढ़ा रहे हैं। जब कांग्रेस के नेता की कोई गारंटी नहीं है तो वो मोदी की गारंटी पर सवाल उठा रहे हैं।”

मोदी की गांरटी, नए भारत की भोर

पीएम मोदी ने कहा कि ”किसी ने एक कविता लिखकर भेजी थी। उसमें एक वाक्य है.. मोदी की गांरटी का दौर है। नए भारत की भोर। आउट ऑफ वारंटी चल रही दुकानें, खोजें अपनी ठौर। सरकारी कंपनियों को लेकर अलग-अलग आरोप लगे हैं। सिर पैर माथा कुछ नहीं बस लगाते रहे आरोप। देश को याद है कि मारुति के शेयर का क्या चल रहा था।”

नेहरू जी की चिट्ठी पढ़ी

प्रधानमंत्री ने कहा, “मैं आदरपूर्वक नेहरूजी को ज्यादा याद करता हूं। मैं एक कोट नेहरूजी का पढ़ रहा हूं। एक बार नेहरूजी ने चिट्ठी मुख्यमंत्रियों को लिखी। उसमें उन्होंने लिखा – मैं किसी भी आरक्षण को पसंद नहीं करता। खासकर नौकरी में आरक्षण तो कतई नहीं। मैं ऐसे किसी भी कदम के खिलाफ हूं, जो अकुशलता को बढावा दे, जो दोयम दर्जे की तरफ ले जाए।”

नेहरूजी ने कहा था, ”मैं भारत को हर मामले में फर्स्ट क्लास देश के तौर पर देखना चाहता हूं। जिस वक्त हम सेकेंड क्लास को प्रोत्साहित करेंगे, उसी वक्त हम हार जाएंगे।’ पंडित नेहरू ने कहा था कि पिछड़े समूहों को मदद करने का एकमात्र तरीका यही है कि उन्हें शिक्षा के अच्छे अवसर दिए जाएं। लेकिन यदि हम संप्रदाय और जाति के आधार पर आरक्षण की ओर बढ़ते हैं तो फिर हम काबिल लोगों को खो देंगे और सेकेंड रेट और थर्ड रेट को आगे बढ़ा देंगे।”

एयर इंडिया को किसने तबाह किया?

कांग्रेस ने कहा कि ”हमनें पीएसयू बेच दिए, पीएसयू डुबो दिए। याद कीजिए बीएसएनएल, एमटीएनल को बर्बाद करने वाले कौन थे। वो कौन सा कालखंड था। जरा याद कीजिए HAL की क्या दुर्दशा करके रखी थी। 2019 का एजेंडा HAL के जरिए लड़ने की कोशिश की थी। एयर इंडिया को किसने तबाह किया। कांग्रेस पार्टी और यूपीए ये 10 साल की बर्बादी से मुंह नहीं मोड़ सकती।”

मैं आंसू नहीं बहाता, रोने की आदत नहीं है

पीएम मोदी ने कहा कि ”10 साल यूपीए की पूरी शक्ति गुजरात को क्या कुछ न करने में लगी हुई थी कि आप कल्पना नहीं कर सकते हैं। लेकिन मैं आंसू नहीं बहाता, रोने की मेरी आदत नहीं है। तब भी उतने संकटों के बाद भी, उतने जुल्म के बाद भी, हर प्रकार की मुसीबतों को झेलने के बाद भी। मेरी तो मुसीबत ऐसी थी कि किसी मंत्री से मुझे अप्वाइंटमेंट तक नहीं मिलता था। वो कहते थे कि आप तो जानते हो कि मेरी दोस्ती है, आपसे फोन पर बात कर लूंगा। ये तो डर रहता था। यहां मंत्रियों का डर ऐसा था।”

”गुजरात एक बार बहुत प्राकृतिक आपदा आई। मैंने उस समय के पीएम से आग्रह किया कि एकबार देख लीजिए। उनका कार्यक्रम बना, एक एडवाइजरी बनी थी। वहां से हुक्म आया वो कार्यक्रम बदल कर वो साउथ में चले गए। वो बोले कि हम हवाई जहाज से देख लेंगे लेकिन गुजरात नहीं आएंगे। मैं प्राकृतिक आपदा में भी मुसीबतों को झेला है। लेकिन आज भी मेरा मंत्र है कि इस देश के विकास के लिए राज्य का विकास। हम सबको इसी रास्ते पर चलना चाहिए।”

पहली बार आदिवासी बेटी राष्ट्रपति बनी

पीएम मोदी ने कहा कि ”देश में पहली बार एनडीए ने एक आदिवासी बेटी को राष्ट्रपति बनाने का काम किया। उनको कैंडिडेट बनाया। आपको हमसे वैचारिक विरोध हो तो वो एक बात है। लेकिन वैचारिक विरोध नहीं था क्योंकि हमारे यहां से गए व्यक्ति को आपने कैंडिडेट बनाया।”

हमारी प्राथमिकता क्या है? हमने दिखाया है

”आपका विरोध एक आदिवासी की बेटी से था। जब पीए संगमा जी चुनाव लड़ रहे थे तो उनके साथ भी यही किया गया। राष्ट्रपति जी का अपमान करने की घटनाएं कम नहीं हैं। राष्ट्रपति के लिए ऐसी भाषा बोली गई है कि शर्म से माथा झुक जाए। हमने पहले दलित को अब आदिवासी को राष्ट्रपति बनाया। हमारी प्राथमिकता क्या है? हमने दिखाया”

 

Also Read: उत्तराखंड विधानसभा में पेश हुआ UCC विधेयक, लागू होने के बाद होंगे ये बड़े बदलाव!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *