April 14, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

संभल में PM मोदी ने किया श्री कल्कि धाम मंदिर का शिलान्यास,बोले- ‘अच्छे काम लोग मेरे लिए छोड़ गए’

0
PM,Yoginath

PM,Yoginath

PM Modi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह कल्कि धाम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल होने संभल पहुंचे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम का स्वागत हेलीपैड से किया। पीएम ने छत्रपति शिवाजी महाराज के चरणों में श्रद्धापूर्वक नमन करता हुए अपने संबोधन के जरिए कहा कि श्री कल्कि धाम मंदिर परिसर 5 एकड़ में बनकर तैयार होगा। इसका निर्माण कार्य पूरा होने में 5 साल लगेंगे।

अंगवस्त्र ओढ़ाकर किया स्वागत

बता दें कि वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पीएम मोदी ने कल्कि धाम मंदिर का भूमि पूजन किया। भूमि पूजन अनुष्ठान समाप्त होने के बाद पीएम मोदी मंच पर पहुंचे, तो श्री कल्कि धाम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के अध्यक्ष आचार्य प्रमोद कृष्णम और स्वामी अवधेशानंद गिरि ने अंगवस्त्र ओढ़ाकर उनका स्वागत किया।

पीएम का आभार व्यक्त

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने स्वागत भाषण में कहा- ”मैं श्री कल्कि धाम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करता हूं 18 साल पहले देखे गए ‘सनातन धर्म’ के सपने को पूरा करने के लिए देश के कोने-कोने से हजारों संत यहां एकत्र हुए हैं। हमारे धर्मग्रंथों में लिखा है, जब जब अधर्म और पाप अपने चरम पर पहुंचा, तब तब अधर्मियों का नाश करने और धर्म की पुर्नस्थापना करने के लिए भगवान ने अवतार लिया है।”

कृष्णम ने आगे कहा कि ”त्रेता युग में भगवान राम ने अयोध्या में, द्वापर में भगवान कृष्ण ने मथुरा में जन्म लिया। वहीं कलियुग में भगवान कल्कि संभल की धरती पर अवतरित होंगे। इस कार्यक्रम में आने और कल्कि धाम का शिलान्यास करने के लिए पीएम मोदी का आभार व्यक्त करता हूं।”

Sambhal

कुछ अच्छे काम, मेरे लिए छोड़ गए

पीएम मोदी शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में कहा कि ”उत्तर प्रदेश की धरती से भक्ति, भाव और अध्यात्म की एक और धारा प्रवाहित होने को लालायित है। आज पूज्य संतों की साधना और जनमानस की भावना से एक और पवित्र धाम की नींव रखी जा रही है। मुझे विश्वास है कि कल्कि धाम भारतीय आस्था के एक और विराट केंद्र के रूप में उभरकर सामने आएगा।”                      

पीएम ने आगे कहा कि हैं ‘‘कुछ ऐसे अच्छे काम, जो कुछ लोग मेरे लिए छोड़ कर चले गए हैं। इसके आगे जितने भी काम रह गए हैं, उनको भी संतों और जनता- जनार्दन के आशीर्वाद से हम पूरा करेंगे।”

10 अवतारों होंगे विराजमान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छत्रपति शिवाजी महाराज की जन्म-जयंती को पीएम ने पवित्र और प्रेरणादायक बताते हुए कहा कि ”आज हम देश में जो सांस्कृतिक पुनरोदय देख रहे हैं, अपनी पहचान पर गर्व कर रहे हैं, ये प्रेरणा हमें छत्रपति शिवाजी महाराज से ही मिलती है। मैं इस अवसर पर छत्रपति शिवाजी महाराज के चरणों में श्रद्धापूर्वक नमन करता हूं।”

यह विशाल धाम सही मायनों में भव्य होने वाला है। ”यह एक ऐसा मंदिर होगा, जिसमें 10 गर्भगृह होंगे और भगवान के सभी 10 अवतारों को विराजमान किया जाएगा। मंदिर के शिखर की ऊंचाई 108 फीट होगी। श्री कल्कि धाम मंदिर परिसर 5 एकड़ में बनकर तैयार होगा। इसका निर्माण कार्य पूरा होने में 5 साल लगेंगे।”

इस कालखंड में बहुत विकास हुआ

पीएम ने आगे कहा कि ”10 अवतारों के माध्यम से हमारे शास्त्रों में केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि अलग-अलग स्वरूपों में ईश्वरीय अवतार को प्रस्तुत किया गया है। देश ने अयोध्या में 500 साल के इंतजार को पूरा होते देखा है। रामलला के विराजमान होने का वो अलौकिक अनुभव, वो दिव्य अनुभूति अब भी हमें भावुक कर देती है। इसी बीच हम देश से सैकड़ों किमी दूर अरब की धरती पर, अबू धाबी में पहले विराट मंदिर के लोकार्पण के साक्षी भी बने हैं। इस कालखंड में हमने विश्वनाथ धाम को निखरते देखा है। इसी कालखंड में हम काशी का कायाकल्प देख रहे हैं।”

विकास और विरासत के साथ बढ़ाना है

पीएम मोदी ने कहा कि ”इसी दौर में महाकाल के महालोक की महिमा हमने देखी है। हमने सोमनाथ का विकास देखा है, केदार घाटी का पुनर्निर्माण देखा है। हम विकास भी, विरासत भी के मंत्र के साथ आगे बढ़ रहे हैं। आज एक ओर हमारे तीर्थों का विकास हो रहा है, तो दूसरी ओर शहरों में हाइटेक इंफ्रास्ट्रक्चर भी तैयार हो रहा है। अगर आज मंदिर बन रहे हैं, तो वहीं देश भर में नए मेडिकल कॉलेज भी बन रहे हैं। आज विदेशों से हमारी प्राचीन मूर्तियां भी वापस लाई जा रही हैं और रिकॉर्ड संख्या में विदेशी निवेश भी आ रहा है। आज हमारी शक्ति अनंत है और संभावनाएं भी अपार हैं।”

गुलाबी पत्थरों से बनेगा मन्दिर

दरअसल यह मंदिर को श्री कल्कि धाम निर्माण ट्रस्ट बनवा रहा है, जिसके अध्यक्ष आचार्य प्रमोद कृष्णम हैं। इस कार्यक्रम में शामिल होने देशभर से साधु-संत संभल पहुंचे हैं। कई धार्मिक नेता और भी मंदिर के शिलान्यास समारोह में उपस्थित हैं।
बता दें कि श्री कल्कि धाम मंदिर का निर्माण भी बंसी पहाड़पुर के गुलाबी पत्थरों से होगा। सोमनाथ मंदिर और अयोध्या का राम मंदिर भी बंसी पहाड़पुर के पत्थरों से ही बना है। इसमें स्टील या लोहे का इस्तेमाल नहीं होगा।

 

Also Read: वाराणसी में राहुल गांधी की यात्रा का विरोध, राम भक्तों ने लगाए ‘जय श्री राम के नारे’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *