April 20, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

गैंगस्टर एक्ट मामले में गाजीपुर की MP-MLA कोर्ट ने अंसारी बंधुओं को पाया दोषी, मुख्तार को 10 और अफजाल को 4 साल की सजा

0
Mukhtar Ansari and Afzal Ansari punished in gangster act

Mukhtar Ansari sentenced : गैंगस्टर एक्ट मामले में मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) और बसपा सांसद अफजाल अंसारी को कोर्ट ने आज शनिवार (29 अप्रैल) को दोषी करार दिया है. गाजीपुर की एमपी-एमएलए कोर्ट ने जहां मुख्तार अंसारी को 10 साल की सजा और 5 लाख का जुर्माना लगाया है.

वहीं, बसपा सांसद अफजाल अंसारी को भी कोर्ट ने 4 साल की सजा और 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. इसके साथ ही पुलिस ने उन्हें कोर्ट से ही हिरासत में ले लिया है. बता दें कि अंसारी बंधुओं पर यह फैसला व्यापारी नंदकिशोर रूंगटा अपहरण/ हत्याकांड और बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड मामले में सुनाया है.

सजा के बाद जाएगी अफजाल की सांसदी

अफजाल अंसारी

गैंगस्टर एक्ट मामले में 4 साल की सजा होने के बाद अफजाल अंसारी की सांसदी भी चली जाएगी. वह 2019 में गाजीपुर से सांसद चुने गए थे. बता दें कि न्यायालय में फैसला आने को लेकर अफजाल सुबह 10.45 बजे कोर्ट में पहुंच गए थे. वहीं, मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पेश किया गया था. इस दौरान कोर्ट के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी.

बता दें कि गैंगस्टर मामले में अंसारी बंधुओं के खिलाफ 16 अप्रैल को ही फैसला आने वाला था. लेकिन न्यायाधीश के अवकाश पर रहने के कारण फैसले की अगली तारीख 29 अप्रैल को तय की गई थी.

क्या है पूरा मामला?

 कृष्णानंद राय

साल 2005 में 29 नवंबर को दिन दहाड़े बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या कर दी गई थी. कहा जाता है कि मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) और अफजाल अंसारी (Afzal Ansari) के गुर्गों ने एके-47 जैसे आधुनिक हथियार से कृष्णानंद राय के काफिले पर हमला कर दिया था.

बदमाशों ने कृष्णानंद राय की गाड़ी पर अंधाधुंध 400 राउंड गोलियां बरसाई थी. जिसमें विधायक समेत 7 लोगों की मौत हुई थी. भारी गोलीबारी में कृष्णा नंद राय को कुल 67 गोलियां लगी थी. वहीं, हत्यारों ने उनकी चोटी भी काट ली थी. हत्या का आरोप मुख्तार अंसारी और उनके भाई अफजाल अंसारी पर लगा था.

गवाहों के मुकर जाने पर हुए थे बरी

Mukhtar Ansari Afzal Ansari
कृष्णानंद राय की हत्या के मामले में दर्ज केस के आधार पर अफजाल अंसारी Afzal Ansari) के खिलाफ गैंगस्टर का केस दर्ज हुआ था. जबकि मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के खिलाफ भाजपा विधायक कृष्णानंद राय और नंदकिशोर गुप्ता रुंगटा का अपहरण और हत्या के मामले में गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज हुआ था.

हालांकि गवाहों के मुकर जाने के बाद साल 2019 में अफजाल अंसारी और मुख्तार अंसारी को बरी कर दिया गया. जबकि नंदकिशोर रूंगटा की हुई हत्या के मामले में 2001 में मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) बरी हो गया था. हालांकि गवाहों के मुकर जाने के बाद भी कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है.

अपराध की दुनिया में रहा है दबदबा

Mukhtar Ansari

बता दें कि मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari)  मऊ का रहने वाला है. अपराध की दुनिया में शुरु से ही उसका दबदबा रहा है. एक समय था जब गाजीपुर में उसकी खूब चलती थी, उस समय मऊ भी गाजीपुर जिले के अंतर्गत आता था. जुर्म की दुनिया के साथ-साथ उसने राजनीति में भी कदम रखा और कामयाब भी रहा.

मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari)  मऊ से लगातार 5 बार विधायक रह चुका है. इस समय मऊ से उसका बेटा अब्बास अंसारी विधायक है. मुख्तार अंसारी के उपर हत्या, लूट और अपहरण समेत कई मामले अलग-अलग थानों में दर्ज है. मुख्तार के उपर सबसे ज्यादा 59 मुकदमें गाजीपुर जिले में दर्ज है. फिलाहल लंबे समय से वह बांदा जेल में बंद है.

ये भी पढ़ें- पहलवानों के समर्थन में जंतर-मंतर पहुंची प्रियंका गांधी, पीएम पर तंज कसते हुए कहा- मेडल जीतने पर चाय के लिए बुलाते हैं तो अब क्यों नहीं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *