April 18, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

Kapil Sibal ने जांच एजेंसियों पर कसा तंज, कहा- आजाद तोते को लगा भगवा रंग, मालिक के कहने पर करता है…

0
Kapil Sibal

Kapil Sibal: दिल्ली में केजरीवाल सरकार द्वारा लागू की गई नई आबकारी नीति (Excise Policy) को लेकर सीबीआई (CBI) ने शुक्रवार को दिल्ली एनसीआर में कई जगहों पर रेड की थी. जिसमें दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) का घर भी शामिल था. सीबीआई की छापेमारी के बाद से ही दिल्ली की राजनीति गरमा गई है. इस मामले पर पूर्व कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने बयान देते हुए सीबीआई और बीजेपी तंज कसा है.

सीबीआई के तोते को लगा भगवा रंग

कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) सीबीआई रेड के मामले में आम आदमी पार्टी और मनीष सिसोदिया का बचाव किया. कपिल (Kapil Sibal) ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा साल 2013 में दी गई टिप्पणी का हवाला देते हुए ( जिसमें कोर्ट ने सीबीआई को पिंजरे में बंद तोता कहा था ) कहा कि ‘पिंजरे में बंद तोते को अब खोल दिया गया है और उसके पंख अब भगवा हो गए हैं. उसका मालिक जो कहता है वो तोता करता है’. इसके अलावा उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तारीफ भी किया. उन्होंने कहा कि अब जब अरविंद केजरीवाल का उदय हो रहा है, तो ये बीजेपी के अस्थिर करने का समय है.

उपराज्यपाल ने की थी जांच की सिफारिश

delhi goverment

आपको बता दें कि बीते साल नवंबर के महीने में दिल्ली सराकार की नई आबकारी नीति (Delhi Excise Policy) बनाने और उसमें अनियमितताओं को लेकर सीबीआई (CBI) ने एक एफआईआर दर्ज की थी. जिसके बाद दिल्ली सरकार ने पिछले महीने में इस नीति को खत्म कर दिया था. इसके बाद उप राज्यपाल वीके सक्सेना (VK Saxena) ने इस मामले को उठाते हुए सीबीआई जांच की सिफारिश की थी.

केशव मौर्य ने दी थी विपक्षियों को ये नसीहत

Keshav Maurya

एक तरफ जहां सीबीआई द्वारा की जा रही छापेमारी को विपक्ष राजनीतिक साजिश बताते हुए केंद्र को घेरने की कोशिश कर रही है. वहीं, इस मामले पर यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Maurya) ने विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए करारा जवाब दिया था. जिसमें मौर्य (Keshav Maurya) ने कहा था कि यदि कांग्रेस, सपा और आप के नेता सही हैं और उन्होंने कोई भ्रष्ट्राचार नहीं किया है तो उन्हें घबराना नहीं चाहिए. बल्कि उन्हें खुलकर जांच एजेंसियों का सहयोग करना चाहिए. उनपर सवाल नहीं उठाना चाहिए.

यह भी पढ़ें : बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं डिप्टी CM Manish Sisodia, सीबीआई के बाद जल्द रेड कर सकती है ED

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *