March 2, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

जॉनी बेयरस्टो लेकर जारी हुई चेतावनी, सभी टीमों को उन्हें उंगली नहीं करने की मिली सलाह

0
Jonny Bairstow

IND vs ENG: भारत और इंग्लैंड के बीच बर्मिंघम के एजबेस्टन में जारी टेस्ट मुकाबले के तीसरे दिन इंग्लिश बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) ने शानदार शतकीय पारी खेली. जहाँ एक तरफ सारे इंग्लिश बल्लेबाज, भारतीय गेंदबाजों के सामने बेबस नजर आ रहे थे. वही, दूसरी तरफ बेयरस्टो (Jonny Bairstow) अपनी बल्लेबाजी का लुफ्त उठा रहे थे. हालाँकि अपनी पारी के शुरुआत में वो काफी असहज नजर आ रहे थे. लेकिन, विराट कोहली ने उन्हें उनकी फॉर्म याद दिलाई. आईए जानते हैं आखिर पूरा माजरा क्या है ?

विराट कोहली ने किया था बेयरस्टो को चार्ज

Jonny Bairstow

न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली गयी टेस्ट सीरीज में अपनी तूफानी बल्लेबाजी से कीवी गेंदबाजों की रूह कापां देने वाले जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) को भारतीय गेंदबाजों ने दूसरे दिन के अंतिम सत्र और तीसरे दिन के पहले सत्र में पूरी तरह से बांधे रखा. बेयरस्टो बिलकुल भी सहज महसूस नहीं कर रहे थे. इसी बीच पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली ने उनके ऊपर दवाब बढ़ाने के लिए उन्हें छेड़ने की कोशिश की.

दोनों के बीच नोक-झोक इतनी बढ़ गयी कि, बचाव के लिए अंपायर को बीच में आना पड़ा. विराट के साथ हुई इस बहस के बाद उन्होंने अपनी रफ़्तार पकड़ी और 64 गेंदों पर 13 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे बेयरस्टो ने अगली 79 गेंदों पर 93 रन बना दिए. इस मामले को लेकर वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज इयान बिशप ने बड़ा बयान दिया है.

कृपया करके भालू को उंगली ना करें

Jonny Bairstow

वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर इयान बिशप ने जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) को उनकी इस ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए “भालू ” करार दिया है. और, सभी टीमों को उनकों उंगली ना करने की चेतावनी दी है. बिशप ने अपने एक ट्वीट में कहा, “कृपया भालू को, जो जॉनी बेयरस्टो हैं, उनको उंगली न करें.”

बेयरस्टो की ही वो दमदार बल्लेबाजी थी. जिसके कारण एक समय 200 रनों से ज्यादा की बढ़त लेती दिख रही भारतीय टीम आखिर में 132 रनों की ही बढ़त ले पायी. बेयरस्टो फिलहाल शानदार फॉर्म में चल रहे हैं और 3 लगातार शतक लगा चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *