https://dainikkhabarlive.com/?p=5181&preview=true

Bloating In Periods: पीरियड्स (Periods) के दौरान कई महिलाओं को ब्लोटिंग (Bloating) की समस्या होती हैं. जिसकी वजह से उन्हें पेट में दर्द, ऐंठन, मरोड़ें और गैस की परेशानी (Problems) भी झेलनी पड़ती है. अगर आप भी पीडियड्स के दौरान कुछ ऐसी समस्‍याओं से जूझती हैं तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ आसान से टिप्स (Easy Tips) जिसकी मदद से आप पीरियड्स के दौरान ब्‍लोटिंग की समस्‍या (Bloating In Periods) को कम कर सकते हैं. तो आइए जानते हैं कुछ आसान से टिप्स के बारे में.

कम करें नमक का सेवन

Bloating In Periods

अक्‍सर पीरियड्स (Periods) के दौरान महिलाएं चटपटी चीज खाना पसंद करती हैं. लेकिन आपको बता दें कि नमक से भरे फूड्स दरअसल समस्‍या को और अधिक बढ़ाने का काम करते हैं. ऐसे में बेहतर होगा कि आप चिप्‍स, स्‍नैक्‍स आदि की बजाय हेल्‍दी फूड का सेवन करें. आप अपने डायट में फलों और सब्जियों के साथ-साथ अन्य स्वस्थ खाद्य पदार्थ जैसे साबुत अनाज, लीन प्रोटीन, नट्स और बीज इत्यादि को शामिल करें.

खूद को रखें हाइड्रेट

Bloating In Periods

कई बार पीरियड्स के दौरान डि-हाइड्रेशन की वजह से भी ब्लोटिंग (Bloating In Periods) की समस्या हो जाती है. इससे बचने के लिए खूब पानी पिएं. इससे ब्लोटिंग की परेशानियों से राहत पा सकते हैं. एक्सपर्ट की मानें तो पूरे दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पीना चाहिए. खासतौर पर अगर आपको पीरियड्स हैं तो इस दिनों अधिक से अधिक पानी पिएं. आप चाहें तो नारियल पानी, अनार जूस आदि का भी सेवन कर सकती हैं.

शराब और कैफीन से बनायें दूरी

Bloating In Periods

शराब और कैफीन दोनों ही ब्लोटिंग और प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) के अन्य लक्षणों को बढ़ावा दे सकते हैं. पीरियड्स के दौरान इन पेय पदार्थों के बजाय अधिक से अधिक पानी पिएं. यदि आपको सुबह कॉफी पीने की आदत है तो चाय का सेवन करें. चाय में कॉफी की तुलना में कम कैफीन होता है. आप चाहे तो ग्रीन टी या मिन्‍ट टी आदि का सेवन कर सकते हैं.

एक्सरसाइज है जरूरी

Bloating In Periods

अगर आपके पेट में गैस बन रही है तो बेहतर होगा अगर आप थोड़ी देर वॉक कर लें. आप अगर नियमित रूप से एक्सरसाइज करें तो पीरियड्स में होने वाली समस्या और ब्लोटिंग (Bloating In Periods) से राहत पा सकती हैं.

यह भी पढ़ें- Skipping Bath In Monsoon: बारिश के मौसम में ना नहाना पड़ सकता है भारी, बढ़ सकता है इन बिमारीयों का खतरा

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *