December 8, 2023

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

Ghulam Nabi Azad ने इस्लाम धर्म को लेकर दिया बड़ा बयान, कहा- पहले हिन्दू ही थे भारत के सारे मुसलमान

0

कांग्रेस (Congress) के पूर्व नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) का जम्मू-कश्मीर के डोडा जिले का एक वीडियो बहुत तेज़ी से वायरल हो रहा है। वीडियो में आजाद नबी कहते हैं कि इस्लाम का जन्म 1500 साल पहले हुआ था। भारत में कोई भी बाहर से नहीं आया है। हम सभी इस देश के वासी हैं। भारत के मुसलमान पहले पूरी तरह से हिंदू थे, जो बाद में कनवर्ट हो कर मुस्लमान बने।

सोशल मीडिया पर विडिओ हुआ वायरल

आजाद का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल गया है। कांग्रेस से अपनी राहें अलग करने के बाद डेमोक्रेटिव प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी बनाने वाले जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद इस समय चर्चा में बने हुए हैं। उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह यह कहते हैं कि ” हिंदू धर्म, इस्लाम से पुराना है और सारे मुसलमान पहले हिंदू थे।

हिन्दू कनवर्ट होकर बने मुसलमान

पहले हिंदू ही थे मुसलमान, सभी हिंदू से ही कन्वर्ट हुए हैं'': गुलाम नबी आजाद का बड़ा बयान- वीडियो वायरल - jammu kashmir ghulam nabi azad democratic azad party-mobile

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ यह वीडियो जम्मू कश्मीर के डोडा जिले का बताया जा रहा है। यहाँ अपने भाषण के दौरान आजाद ने कहा कि “भारत में कोई भी बाहर का नहीं है। इस्लाम का जन्म 1500 साल पहले हुआ है और सभी इस देश के हैं। भारत के मुसलमान मूल रूप से हिंदू थे, जो बाद में कन्वर्ट हो गए।” अपने भाषण में आजाद ने कहा, “600 साल पहले कश्मीर में सिर्फ कश्मीरी पंडित रहते थे, जो बाद में कन्वर्ट होकर मुसलमान बन गए हैं। ” उन्होंने सभी लोगों से अमन, शांति और भाईचारा बनाए रखने का निवेदन किया और कहा कि धर्म को राजनीति से नहीं जोड़ना चाहिए और लोगों को धर्म के नाम पर कभी वोट नहीं देना चाहिए।

गुलाब नबी ने कहा सभी भारत माता का हिस्सा है

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने 'धर्मांतरण' को ठहराया सही, बोले तलवार के डर से नहीं, बल्कि प्रभावित होकर धर्म बदलवाते हैं लोग | Congress leader ghulam ...

गुलाम नबी ने अपने भाषण में आगे कहा,  बीजेपी के किसी नेता ने यह कहा है कि कोई बाहर से नहीं आया है। तो मैंने उनसे कहा कि अंदर-बाहर से कोई नहीं आया है। हिंदुओं में जला दिया जाता है और अवशेष दरिया में डाल दिए जाते है। वह पानी अलग-अलग जगह जाता है, आगे उन्होंने कहा कि ” मुसलमान भी इसी जमीन के अंदर जाता है और हिन्दू भी, तो उसका शरीर भी इसी भारत माँ की धरती का हिस्सा बन जाता है, तो फिर हिंदू-मुसलमान क्यों करते हो, यहाँ सब एक है। दोनों ही मिट्टी में मिल जाते हैं और हिंदू-मुसलमान के नाम पर जो किया जा रहा है, वह और कुछ नहीं सिर्फ एक दूसरे के प्रति घृणा और स्वार्थ है।

यह भी पढ़ें: अटल बिहारी वाजपेई के स्मारक पर बीजेपी के सहयोगी दल भी हुए शामिल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *