Ghulam Nabi Azad Sonia Gandhi

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता सहित सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है. इस बीच Ghulam Nabi Azad ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को 5 पन्नों की चिट्ठी लिखी है. जिसमें उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने से छोड़ने तक के सफर के बारे में बताया है. इस्तीफे के बाद उन्होंने वर्तमान समय में पार्टी की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए जमकर हमला बोला है.

राहुल को लेकर दिखाई कड़ी नाराजगी

Ghulam Nabi Azad Rahul Gandhi

गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने अपनी चिट्ठी में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है. उन्होंने लिखा कि राहुल वरिष्ठ नेताओं को साइडलाइन कर अपने आस-पास अनुभवहीन लोगों को रखा हुआ है. उन्होंने राहुल पर आरोप लगाते हुए कहा कि आज कांग्रेस रिमोट कंट्रोल मॉडल से चल रही है. हालात इतने खराब हो गए हैं कि राहुल गांधी के पीए और सुरक्षाकर्मी पार्टी के बारे में फैसले ले रहे हैं. बता दें कि राहुल पर पार्ट टाइम पॉलिटिशियन होने के आरोप लगता रहा है. हार्दिक पटेल और हिमंत बिस्वा सरमा भी उनपर समय न देने का आरोप लगा चुके हैं.

कांग्रेस को दिया यह सुझाव

Ghulam Nabi Azad

गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने चिट्ठी में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को लिखा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यसमिति ने इच्छाशक्ति और क्षमता खो दी है. कांग्रेस ने भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने वाली है, जिसमें वह केंद्र सरकार के खिलाफ महंगाई, बेरोजगारी और शिक्षा व्यवस्था समेत कई मुद्दो को उठाएगी. जिसको लेकर आजाद ने पार्टी को एक सुझाव देते हुए लिखा है कि ‘भारत जोड़ो यात्रा’ शुरू करने से पहले पार्टी नेतृत्व को ‘कांग्रेस जोड़ो यात्रा’ करनी चाहिए थी.

पीए और सिक्योरिटी गॉर्ड ले रहे हैं फैसले

Ghulam Nabi Azad

कांग्रेस में इस समय राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव को लेकर माथापच्ची चल रही है, जिसे लेकर Ghulam Nabi Azad ने कहा कि- पूरी संगठनात्मक चुनाव प्रक्रिया एक दिखावा है. चुनाव प्रक्रिया एक बहुत बड़ा धोखा है. यदि पार्टी के अध्यक्ष पद पर कोई गैर गांधी परिवार से काबिज भी होता है तो वह महज कठपुतली बनकर रह जाएगा. आगे उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी तो महज नाम की लीडर हैं. पार्टी से जुड़े सारे फैसले राहुल के पीए और सिक्योरिटी गॉर्ड ले रहे हैं.

ये भी पढ़ें- छापेमारी को लेकर विधानसभा में गरजे Manish Sisodia, बताया रेड के दिन की पूरी कहानी, कब कैसे और क्या-क्या हुआ

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *