February 28, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

उदयपुर हत्या मामले में हुआ बड़ा खुलासा, गौहर चिश्ती को आते थे पाकिस्तान से फोन, सामने आए अहम सबूत

0
Gauhar Chishti

Udaipur Murder Case : राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैया लाल (Kanhaiya Lal Sahu) हत्याकांड मामले में लगातार नए-नए खुलासे सामने आ रहे हैं. बता दें कि कन्हैया लाल हत्याकांड का अजमेर कनेक्शन सामने आने के बाद अजमेर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. सिर तन से जुदा का नारा, देने वाले गौहर चिश्ती (Gauhar Chishti) और कन्हैयालाल के हत्यारों में लिंक की बात भी सामने आई है. चिश्ति ने 17 जून को भड़काऊ भाषण दिया था. जिसके बाद पता चला कि चिश्ती के फोन पर पाकिस्तान नंबरों से लगातार कॉल आ रहे थे.

चिश्ती को आते थे पाकिस्तान से फोन

Gauhar Chishti

उदयपुर हत्याकांड मामले (Udaipur Murder Case) में एनआईअ (NIA) ने अब बड़ा खुलासा किया है. एनआईअ ने जांच में पाया है कि पाकिस्तान के 18 नंबरों से, देश के जिन 300 लोगों से बात होती है, उनमें अजमेर दरगाह का खादिम गौहर चिश्ती (Gauhar Chishti) भी शामिल है. जो अभी भी फरार है. बता दें कि गौहर चिश्ती की जान-पहचान कन्हैया के हत्यारों रियाज और गौस से भी थी. तीनों के बीच बातचीत होती थी.

दोनों हत्यारों से मिला है गौहर चिश्ती

Gauhar Chishti

बीजेपी से निलंबित नेता नूपुर शर्मा के विवादित बयान के बाद, 17 जून को अजमेर दरगाह के निजाम गेट पर शांति मार्च निकाला गया था. जहां सीढ़ियों पर गौहर (Gauhar Chishti) ने लोगों को संबोधित किया था और भड़काऊ नारे लगाए थे. नारे लगाने के बाद चिश्ती, अजमेर से उदयपुर पहुंचा फिर गौस और रियाज से मुलाकात की. मुलाकात के 10 दिन बाद ही, उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या कर दी गई. जिसके बाद दोनों हत्यारे राजसमंद के रास्ते अजमेर आने वाले थे. जहां पर दोनों की मुलाकात गौहर (Gauhar Chishti) से होनी थी, परन्तु बीच में ही पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया.

अभी भी फरार है गौहर चिश्ती

Gauhar Chishti

Udaipur Murder Case: 17 जून को, सिर तन से जुदा का नारा देने वाले गौहर (Gauhar Chishti) अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है. शांति मार्च के दौरान गौहर ने रिक्शे पर लाउडस्पीकर लगाकर वहां इक्कठा हुए काफी लोगों के बीच भड़कांऊ भाषण दिया था. जिसका वीडियो सोशल मीडिया में आने के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था.  हालांकि चिश्ती को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका है. वह भाषण वाले दिन से ही फरार चल रहा है.

यह भी पढ़े- उदयपुर हत्याकांड का एक और आरोपी एनआईए की हिरासत में भेजा गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *