March 1, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

Delhi Pollution: छठ पर्व से पहले यमुना का हाल-बेहाल, जहरीले झाग से बढ़ी भक्तों की टेंशन

0
Delhi Pollution

Delhi Pollution

Delhi Pollution: दिल्ली में प्रदूषण लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों के स्वास्थ्य पर भी खासा असर पड़ रहा है। इसे देखते हुए दिल्ली सरकार ने ऑड और इवेन फॉर्मूला लागू किया है। साथ ही दिल्ली में दिल्ली या फिर बदूसरे राज्यों से आने वाली डीजल बसों पर प्रतिबंध लगा दिया गया। इसके बावजूद भी दिल्ली में प्रदूषण कम होने का नाम नहीं ले रहा जिसे देखते हुए दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपालराय ने दिल्ली की सड़कों पर पानी का छिड़काव कराया। इसके लिए उन्होंने 14 नवंबर को सुबह पानी का छिड़काव करने वाली गाड़ियों को हरी झंडी दिखाई। कहा जा रहा है कि ऐसा करने से धूल के कण और मिट्टी हवा में नहीं उड़ेंगे जिससे प्रदूषण में कमी आएगी। कुछ ही दिनों में छठ का त्योहार है ऐसे में खबर ये आ रही है कि दिल्ली की हवा के साथ ही पानी भी काफी दूषित है।

Delhi Pollution
Delhi Pollution

दिल्ली में प्रदूषण

दिवाली को बीते दो दिन हो चुके हैं लेकिन दिल्ली में प्रदूषण के कारण हाल-बेहाल है। दिल्ली की हवा तो प्रदूषित हो ही रही है साथ ही दिल्ली का पानी भी काफी दूषित है। हाल ही में यमुना नदी की कुछ तस्वीरें देखी गई हैं जिनमें यमुना घाटों पर फिर जहरीला झाग दिखने लगा है। इसके चलते छठ मनाने वाले श्रद्धालुओं की मुश्किलें बढ़ गई हैं। वहीं अब इसको लेकर सियासत भी शुरू हो गई है।

Yamuna Pollution
Yamuna Pollution

यमुना का हाल-बेहाल

ऐसा पहली बार नहीं है जब छठ पर्व से पहले यमुना में झाग नजर आया हैं। हर साल यही हालात रहते हैं। बड़ी बात ये है कि यमुना का हाल दिल्ली सरकार के अतिरिक्त बजट पास करने के बाद भी बेहाल है। हर साल की तरह इस साल भी दिल्ली सरकार के तमाम दावे धरे के धरे रह जाते हैं। इस साल भी एक तरफ छठ पूजा के लिए जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं। घाट सजाए जा रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर इस जहरीले झाग ने श्रद्धालुओं की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

Delhi Pollution
Delhi Pollution

क्यों आता है यमुना में झाग

बता दें कि यमुना के पानी में डिटरजेंट की मात्रा सीवेज से या फिर इंडस्ट्री से निकलने वाले कचरे से आती है जिसके कारण यमुना में झाग बनता है। इंडस्ट्री से निकला कचरा भले ही कम हो, लेकिन सीवेज से निकले कचरे से ज्यादा खतरनाक होता है।

Also Read: मौसम ने दिया DELHI-NCR वालों को दिवाली का गिफ्ट, बारिश ने दी प्रदूषण से राहत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *