March 2, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

पुरानी बोतल में नई शराब है शमशेरा, जानिए कैसा है रणबीर कपूर का किरदार, संजय दत्त का खतरनाक लुक लगा रहा चार चाँद

0
Shamshera Review

Shamshera Review: बॉलीवुड के जाने माने सुपरस्टार रणबीर कपूर, वाणी कपूर और संजय दत्त स्टारर निर्देशक करण मल्होत्रा की फिल्म शमशेरा आखिरकार बड़े पर्दे पर पहुंच गई है। इस फिल्म को बॉलीवुड लाइफ की टीम भी सिनेमाघर में देखने पहुंची हैं। जहां से अब तक फिल्म में दिखाई गई खास बातें हम क्विक मूवी रिव्यू के जरिए सामने लेकर आए हैं।

फिल्म के पहले भाग में अब तक क्या कुछ हुआ है और ये फिल्म कैसी है ये जानने के लिए आप फिल्म के पहले भाग का रिव्यू (Shamshera Review) यहां पढ़ सकते हैं। रणबीर कपूर स्टाररर फिल्म शमशेरा क्या वाकई दर्शकों के बीच फैले इस फिल्म के उत्साह को बरकरार रख पाने में कामयाब हुई है?

कैसा है शमशेरा फिल्म का पहला भाग?

Shamshera Review

Shamshera Review: रणबीर कपूर स्टारर निर्देशक करण मल्होत्रा की फिल्म शमशेरा एक डकैत ड्रामा फिल्म है। दिलचस्प बात ये है कि ये फिल्म उम्मीद के मुताबिक मसाला एंटरटेनर साबित होने की ओर बढ़ रही है। डकैतों के मुद्दों पर बनी 60, 70, 80 और 90 के दशक की फिल्मों के मुताबिक ही ये फिल्म साल 2022 में रिलीज हुई शमशेरा भी इस शैली में बनी अब तक की बॉलीवुड फिल्मों के स्वर्णिम इतिहास को दोहराती दिख रही है।

फिल्म में रणबीर कपूर ने डबल रोल निभाया है। जबिक वाणी कपूर का किरदार अभी तक काफी सीमित दिखाई पड़ा हैं, हालांकि उनका किरदार कहानी को सपोर्ट करता हुआ आगे बढ़ा रहा है। फिल्म के विलेन संजय दत्त उतने ही खतरनाक नजर आ रहे हैं जितनी की हम सभी ने उम्मीद थी।

पुरानी बोतल में नई शराब है शमशेरा

Shamshera Review

Shamshera Review: खास बात ये है कि भले ही पीरियड ड्रामा बेस्ड शमशेरा पुराने दौर की याद दिलाती हैं और पुरानी डकैत ड्रामा फिल्मों से प्रेरित है लेकिन उसके बावजूद इसके लेखक-निर्देशक करण मल्होत्रा और उनके सह-लेखकों की तिकड़ी ने इस फिल्म को नवीनता से भर दिया है। जिससे फिल्म आपको बोर नहीं करती। फिल्म को नए अंदाज में बुना गया है। जिससे ये हर उम्र के दर्शकों को एंटरटेन करने का दम रखती है।

हीरो के इंट्रोडक्शन सीन से लेकर उसके बदले की कहानी तक, अपनी हीरोइन को गुंडों से बचाने से लेकर विलेन से मुठभेड़ तक, हर मोर्चे पर फिल्म मनमोहन देसाई, रमेश सिप्पी, राज खोसला और नासिर हुसैन के दौर को नए अंदाज में पेश करने में सफल हुई है। निर्देशक करण मल्होत्रा का निर्देशन, सिनेमैटोग्राफी और वीएफएक्स भी शानदार हैं।

यह भी पढ़े:- फिल्म लाइगर में हैं फाइटिंग सीन्स की भरमार, अलग अंदाज में दिख रही है अनन्या पांडे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *