April 21, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

विधायकों को लेकर अयोध्या जाएंगे एकनाथ शिंदे, कहा- देवी-देवताओं का अपमान बर्दाश्त नहीं

0
CM Eknath Shinde

CM Eknath Shinde : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने अपने फैसले को एक बार फिर सही बताते हुए कहा है कि, पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य की जनता ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिवसेना गंठबंधन को बहुमत दिया था. इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें ये कदम ढाई साल पहले उठाना चाहिए था. बहरहाल अब एकनाथ अपने विधायकों को लेकर जल्द ही अयोध्या जा रहें हैं.

क्या अपनी मेहनत से व्यक्ति ऊपर नहीं उठ सकता.?

Eknath Shinde

शिंदे अपने विधायकों को अयोध्या लेकर जाएंगे क्योंकि उन्होंने कहा कि यह उनके लिए भावना का मामला है और इस यात्रा का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है. हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं और राज्य में किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है. लेकिन किसी को भी हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.
इसके अलावा उन्होंने (CM Eknath Shinde) कहा-

राष्ट्र ने देखा कि कैसे एक आम कार्यकर्ता शीर्ष पद तक पहुंच सकता है. बहरहाल कुछ लोग इस बात को पचा क्यों नहीं पाते कि एक आम आदमी भी अपनी मेहनत से ऊपर उठ सकता है… क्या केवल वही लोग उच्च पदों की आकांक्षा कर सकते हैं जिनके मुंह में पैदा होते ही चांदी का चम्मच होता है.?

बालासाहेब ठाकरे की विचारधारा को बढ़या है आगे- शिंदे

Eknath Shinde

शिंदे (CM Eknath Shinde) ने कहा कि विधानसभा चुनाव में लोगों ने पोस्टर देखे, जिसमें एक तरफ बालासाहेब ठाकरे की और दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर थी. बीजेपी को 106 और शिवसेना को 56 सीटें मिली थी. उम्मीद जताई जा रहीं थी कि दोनों दल सरकार बनाएंगे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. बहरहाल इससे पार्टी कार्यकर्ता खुश नहीं थे.
इसके अलावा एकनाथ शिंदे (CM Eknath Shinde) ने कहा-

बालासाहेब ठाकरे ने खुद कहा था कि अगर उन्हें कभी कांग्रेस के साथ गठबंधन करना पड़ा तो वह दुकान बंद कर देंगे तो हमने क्या गलत किया है.? हमने केवल बालासाहेब ठाकरे की शिक्षाओं को आगे बढ़ाया है.

यह भी पढ़े- मुख्यमंत्री योगी को धमकी देने वाला शख्स हुआ गिरफ्तार, राजस्थान से लखनऊ साइबर सेल ने पकड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *