April 17, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

Muft Bijli Yojna को कैबिनेट की मंजूरी, मिलेगी 78,000 रुपये की सब्सिडी, बढ़ेंगे रोजगार के अवसर

0
Pm Surya Ghr Muft Bijli Yojna

Pm Surya Ghr Muft Bijli Yojna

Muft Bijli Yojana: लोकसभा चुनाव से पहले केंद्र की मोदी सरकार ने एक बड़ा ऐलान किया है। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि कैबिनेट की बैठक में पीएम सूर्य घर मुक्त बिजली योजना को मंजूरी मिल गई है। साल 2025 तक सभी इमारतों पर रूफटॉप सोलर प्लांट लग जाएंगे। साथ ही इस योजना से 1 करोड़ घरों को 300 यूनिट फ्री बिजली मिलेगी और वार्षिक 15000 रुपये की बचत भी होगी। वहीं बढ़ती बेरोजगारी को देखते हुए 17 लाख लोगों को रोजगार देने की घोषणा की गई है।

सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि ”पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना के तहत साल 2025 तक सभी केंद्र सरकार की इमारतों पर प्राथमिकता के आधार पर रूफटॉप सोलर प्लांट लगाए जाएंगे। साथ ही इस योजना से 1 करोड़ घरों को 300 यूनिट फ्री बिजली मिलेगी और वार्षिक 15000 रुपये की बचत भी होगी। दो किलोवॉट तक के रूफटॉप सोलर प्लांट लगाने में 145000 रुपये खर्च होंगे, जिसमें सरकार की ओर से 78000 रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।”

Also Read: CBI के सामने पेश नहीं होंगे Akhilesh Yadav, अवैध खनन मामले के समन को बताया चुनावी साजिश

योजने से मिलेगा रोजगार

अनुराग ठाकुर ने आगे कहा कि ”पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना के लिए नेशनल पोर्टल भी लॉन्च हो चुका है। वहीं जो लोग रूफटॉप सोलर प्लांट लगवाएंगे उन्हें बैंक से आसान किस्तों में लोन भी मिलेगा। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों को मॉडल सोलर विलेज के रूप में विकसित किया जाएगा। लोग बची हुई बिजली को बेचकर पैसे भी कमा सकते हैं। आवासीय क्षेत्र में रूफटॉप सोलर के जरिए 30 गीगावॉट सौर क्षमता में बढ़ोतरी होगी। इस योजना के विनिर्माण, लॉजिस्टिक्स, आपूर्ति श्रृंखला, बिक्री, स्थापना, ओएंडएम और अन्य सेवाओं में 17 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा।”

Anurag Thakur

78,000 रुपये की सब्सिडी

बता दें कि केंद्र सरकार एक करोड़ घरों में छतों पर सोलर प्लांट लगाने में 75,021 करोड़ रुपये खर्चा करेगी। जिससे1 किलोवाट सिस्टम के लिए 30,000, 2 किलोवाट सिस्टम के लिए 60,000 और 3 किलोवाट या उससे अधिक क्षमता वाले सिस्टम के लिए 78,000 रुपये की सब्सिडी मिलेगी।

ऐसे कर सकते हैं अप्लाई

सबसे पहले पोर्टल में रजिस्ट्रेशन करें। उसके बाद अपने राज्य का नाम चुनें। फिर इलेक्ट्रीसिटी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी को सेलेक्ट करें। उसके बाद वहां इलेक्ट्रीसिटी कंज्यूमर नंबर डालें। अपना मोबाइल नंबर और ईमेल डालें। कंज्यूमर नंबर और मोबाइल नंबर के साथ पोर्टल में लॉगिन करें। वहां फॉर्म के अनुसार रूफटॉप सोलर के लिए आवेदन करें।

डिस्कॉम से फिजिबिलिटी अप्रूवल का वेट करें। एक बार जब आपको फिजिबिलिटी अप्रूवल मिल जाए तो अपने डिस्कॉम में किसी भी रजिस्टर्ड वेंडर से प्लांट लगवाए। एक बार इंस्टॉलेशन पूरा हो जाने पर, प्लांट की डिटेल डिपॉजिट करें और नेट मीटर के लिए आवेदन करें। नेट मीटर की इंस्टॉलेशन और डिस्कॉम द्वारा इंस्पेक्शन के बाद, वे पोर्टल से कमीशनिंग सर्टिफिकेट तैयार करेंगे।

फिर जब आपको कमीशनिंग रिपोर्ट मिल जाएगी। पोर्टल के माध्यम से बैंक अकाउंट की डिटेल और एक कैंसल चेक डिपॉजिट करें। इसके साथ ही आपको 30 दिनों के भीतर आपके बैंक अकाउंट में आपकी सब्सिडी मिल जाएगी।

3 नए उर्वरक ग्रेड हुए शामिल

अनुराग ठाकुर ने यह भी कहा कि ”कैबिनेट ने खरीफ सीजन 2024 (1 अप्रैल, 2024 से 30 सितंबर, 2024 तक) के लिए फॉस्फेटिक और पोटाश उर्वरकों पर पोषक तत्व आधारित सब्सिडी दरों और एनबीएस योजना के तहत 3 नए उर्वरक ग्रेड को शामिल करने की भी अनुमति दे दी। सरकार एनबीएस आधारित पोषक तत्वों पर 24,420 करोड़ रुपये की सब्सिडी देगी। उर्वरक के दाम में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है, जो दाम पिछले साल था, इस साल भी उसी दाम पर उर्वरक मिलेगा।”

 

Also Read: West Bengal News: Mamta Banerjee ने शेख शाहजहां को दिखाया पार्टी से बाहर का रास्ता, 10 दिनों की पुलिस रिमांड

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *