March 3, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

सुख- समृद्धि के लिए अजा एकादशी पर आजमाए यह ज्योतिषीय उपाय, भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की हमेशा रहेगी कृपा

0
Aja Ekadashi 2022

Aja Ekadashi 2022: हिंदू धर्म में एकादशी व्रत का विशेष महत्व माना गया है। इस दिन श्री हरि विष्णु जी की पूजा- अर्चना की जाती है। एकादशी के दिन लोग उपवास रखते हैं। एकादशी व्रत का सीधा प्रभाव मन और शरीर दोनों पर पड़ता है। इस दिन ज्योतिषीय उपाय करके ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव को कहीं हद तक कम किया जा सकता है। साथ ही इस दिन भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी का आशीर्वाद भी प्राप्त किया जा सकता है।

इस मंत्र का करें जाप

Aja Ekadashi 2022

शास्त्रों के मुताबिक, अजा एकादशी (Aja Ekadashi 2022) के दिन ‘‘उपेन्द्राय नमः, ॐ नमो नारायणाय मंगलम भगवान विष्णु, मंगलम गरुणध्वजः। मंगलम पुण्डरीकाक्ष, मंगलाय तनोहरिः।।” इस मंत्र का जाप करना चाहिए। इस मंत्र का जाप करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और सुख समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं, व हर कार्य में सफलता मिलती है।

चंदन व केसर का करें उपाय

Aja Ekadashi 2022

शास्त्रों में भगवान विष्‍णु और लक्ष्‍मी पूजा में चंदन और केसर का विशेष महत्‍व बताया गया है। अजा एकादशी (Aja Ekadashi 2022) के दिन भगवान विष्णु को पीले चंदन और केसर में गुलाब जल मिलाकर तिलक करें। साथ ही खुद भी माथे पर टीका लगाएं। ऐसा करने से आपके सभी कार्य बनने लगेंगे। साथ ही आर्थिक तरक्की भी होगी।

संतान प्राप्ति के लिए कारगर उपाय

Aja Ekadashi 2022

अजा एकादशी (Aja Ekadashi 2022) पर सुबह स्नान करने के पश्चात हो सके तो पीले वस्त्र धारण करें। साथ ही श्रीहरि विष्णु की पूजा-उपासना भी करें और उन्हें पीले फूलों की माला अर्पित करें। वहीं भगवान विष्णु के मंत्र ऊं नमो भगवते वासुदेवाय नम: का जाप करें। ऐसा करने से आपको संतान सुख प्राप्त होगा ।

दक्षिणावर्ती शंख से करें अभिषेक

Aja Ekadashi 2022

दक्षिणावर्ती शंख में मां लक्ष्मी का वास माना जाता है। इसलिए अजा एकादशी (Aja Ekadashi 2022) पर दक्षिणावर्ती शंख में कच्‍चा दूध और केसर भरकर भगवान विष्णु का अभिषेक करना चाहिए। ऐसा करने से आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। साथ ही घर में मां लक्ष्मी का भी वास रहेगा।

यह भी पढ़े:- जानिए, क्या है दही हांडी के पर्व की मान्यता और जानिए क्यों और कैसे मनाते हैं यह पर्व

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *