April 17, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

Abu Dhabi का मंदिर बनकर तैयार, VIP’s को दर्शन की अनुमति, जानें आम जनता के लिए कब खुलेंगे द्वार?

0
Abu Dhabi Temple

Abu Dhabi Temple

Abu Dhabi: हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अबु धाबी में पहले हिंदू मंदिर का उद्घाटन किया था। इसी के साथ अब विदेशी धरती पर भी भारत की संस्कृति का अदभुत नजारा देखने को मिलेगा। वहीं हिंदू श्रद्धलुओं के लिए एक खुशखबरी है इस विदेशी मंदिर के दरवाजे एक मार्च से श्रद्धलुओं के लिए खोल दिए जाएंगे। मंदिर के अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी है। लेकिन 15 से 29 फरवरी तक पहले से पंजीकरण कराने वाले विदेशी श्रद्धालुओं को मंदिर में आने की अनुमति होगी।

अबू धाबी के मंदिर का निर्माण पूरे होती है

अबु धाबी में अब सबको मिलेंगे दर्शन पीएम मोदी ने इस हिंदू मंदिर का उद्घाटन किया था। मंदिर के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि सबको मिलेंगे दर्शन। एक मार्च से मंदिर के दरवाजे सबके लिए खुल जाएंगे।

Also Read: गंगटोक और लक्ष्यद्वीप के बाद अब द्वारका नगरी पहुचें PM Modi, भारतीय पर्यटकों को बढ़ी संख्या

27 एकड़ जमीन पर हुआ निर्माण

बता दें कि यह मंदिर 27 एकड़ जमीन पर फैला है। बोचासनवासी श्री अक्षर पुरूषोत्तम स्वामीनारायण संस्था (बीएपीएस) स्वामीनारायण संस्था का निर्माण अबु मुरीखाह, दुबई-अबू धाबी शेख जायद राजमार्ग पर अल रहबा के पास किया गया है।

एक मार्च से होंगे दर्शन

मंदिर के प्रवक्ता ने बताया है कि, “एक मार्च से यह मंदिर जनता के लिए खुल जाएगा उसके बाद लोग दर्शन कर पाएंगे। वहीं पर्यटकों के लिए प्रत्येक सोमवार को मंदिर बंद रहेगा।” करीब 18 लाख ईंटों की मदद से बने यूएई के पहले हिंदू मंदिर के लिए भारत से गंगा और यमुना का पवित्र जल, राजस्थान का गुलाबी बलुआ पत्थर और लकड़ी के फर्नीचर का इस्तेमाल किया गया है।

Hindu-temple

भगवान कृष्ण के अवतार

मंदिर के अधिकारियों के अनुसार, ”मंदिर का निर्माण प्राचीन निर्माण शैली के अनुसार किया गया है। मंदिर के निर्माण के लिए यूएई सरकार ने जमीन दान पर दी था।” बीएपीएस के अंतर्राष्ट्रीय संबंध प्रमुख स्वामी ब्रह्मविहरिदास ने बताया कि, “मंदिर के सात शिखरों पर देवताओं की मूर्तियां हैं, जिनमें भगवान शिव, भगवान राम, भगवान कृष्ण, भगवान जगन्नाथ, भगवान स्वामीनारायण (भगवान कृष्ण का अवतार माना जाता है), तिरूपति बालाजी और भगवान अयप्पा शामिल हैं।”

मंदिर में दिखी पूर्णरूप से सांस्कृतिक झलक

बता दें कि मंदिर में महाभारत और रामायण के अलावा पंद्रह अन्य कहानियों को भी दर्शाया गया है। इन कहानियों में माया, एज्टेक, मिस्र, अरबी, यूरोपीय, चीनी और अफ्रीकी सभ्यताएं तक शामिल हैं। मंदिर की बाहरी दीवारें भारत से लाए गए बलुआ पत्थर से बनाई गई है।

पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

बता दें कि इस भव्य मंदिर का उद्घाटन 14 फरवरी को पीएम मोदी द्वारा किया गया था। उद्घाटन समारोह में 5,000 लोगों को बुलाया गया था। इसके साथ ही 15 से 29 फरवरी तक पहले से पंजीकरण कराने वाले विदेशी श्रद्धालुओं को मंदिर में आने की इजाजत दी गई है।

prime-minister-narendra-modi

Also Read: Indians: भारतीय लोग खान-पान के आलावा इन चीजों पर कर रहे खर्चा, जानें कितना है मासिक प्रति व्यक्ति उपभोक्ता खर्च?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *