March 2, 2024

#World Cup 2023     #G20 Summit    #INDvsPAK    #Asia Cup 2023     #Politics

भारतीय क्रिकेट टीम को आज ही के दिन मिले थे 3 सबसे बड़े सुपरस्टार, बदल कर रख दी किस्मत

0
Indian Cricket Team

भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के लिए आज का दिन यानी कि 20 जून एक ख़ास महत्व रखता है. दरअसल आज ही के दिन भारतीय टीम के 3 दिग्गज खिलाड़ियों ने टेस्ट क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था. आज के समय में इन्हे भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket Team) का कोहिनूर कहे या कुछ और, सभी कुछ जायज है.

जी हाँ, हम बात कर रहे हैं सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और विराट कोहली के बारे में. सौरव और द्रविड़ ने साल 1996 में जबकि विराट कोहली ने साल 2011 में अपना डेब्यू किया था. और आज तीनो ही खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट के प्रमुख स्तम्भों में से एक है.

मोहम्मद अजहरूद्दीन ने दिया था 2 युवा खिलाड़ियों को मौका

Indian Cricket Team

साल 1996 में इंग्लैंड के दौरे पर पहुंची मोहम्मद अजहरूद्दीन की कप्तानी वाली भारतीय टीम (Indian Cricket Team) को पहले मैच में करारी हार का सामना करना पड़ा था. जिसके बाद अगले मैच में अजहर ने राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली के रूप में 2 युवा खिलाड़ियों के ऊपर भरोसा दिखाया. दोनों ही खिलाड़ियों ने अपने कप्तान को बिलकुल भी निराश नहीं किया. गांगुली ने जहाँ अपने डेब्यू मैच में ही शानदार शतक जड़ा. जबकि द्रविड़ ने 95 रनो की बेहतरीन पारी खेली थी.

इन दोनों बल्लेबाजों की पारी की बदौलत ही भारतीय टीम नॉर्टिंघम टेस्ट ड्रॉ कराने में कामयाब रहा था. इसके बाद का तो बाकी सारा इतिहास पूरी दुनिया को पता है. साल 2008 में संन्यास लेने से पहले गांगुली ने अपने टेस्ट करियर ने 113 मैच खेलते हुए 16 शतकों के साथ 7212 रन बनाये. जबकि द्रविड़ ने अपने रनो की संख्या को 10 हजार के पार पहुंचाते हुए 163 मुकाबलों में 36 शतक के साथ 13265 रन बनाए. द्रविड़ ने साल 2012 में टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा था.

विराट कोहली नहीं कर पाए थे अपने डेब्यू मैच में कमाल

Indian Cricket Team

राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली के डेब्यू के 15 सालों के बाद आज ही के दिन एक और दिग्गज भारतीय खिलाड़ी विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था. हालाँकि विराट अपने डेब्यू मैच में कोई ख़ास कमाल दिखा पाने में कामयाब नहीं हो पाए थे. विराट पहली पारी में 4 और दूसरी पारी में केवल 15 रन ही बना पाए थे. दोनों ही पारियों में फिदेल एडवर्ड्स ने उन्हें अपना शिकार बनाया था. हालाँकि उसके बाद से विराट ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

डेब्यू के 11 सालों के बाद अब विराट के नाम 101 मुकाबलों में 49.95 की औसत से 8043 रन दर्ज है. इस दौरान उनके बल्ले से कुल 27 शतक और 28 अर्धशतक निकले हैं. विराट अभी केवल 33 साल के है और वो टीम इंडिया (Indian Cricket Team) का एक प्रमुख हिस्सा है. ऐसे में उनके पास 10 हजार रनों के आंकड़े को छूने का पूरा मौका है. दूसरी तरफ क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद भी गांगुली और द्रविड़ भारतीय क्रिकेट (Indian Cricket Team) को लगातार अपनी सेवाएं दे रहे हैं. गांगुली बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाल रहे हैं, वहीं राहुल द्रविड़ टीम इंडिया के कोच हैं.

 

यह भी पढ़ें : विराट कोहली का नेटवर्थ हजार करोड़ के पार, जानिए कहां से करते हैं कितनी कमाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *